DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हजारों प्राथमिक शिक्षकों के वेतन पर ग्रहण

ईद फीकी रही अब दीवाली भी अंधेरी होगी। साठ हजार से ज्यादा नवनियुक्त प्राथमिक शिक्षकों को सितम्बर का वेतन नहीं मिला। इस महीने का वेतन मिलने की भी उम्मीद नहीं। हजारों शिक्षकों के प्रमाणपत्रों का सत्यापन अब तक नहीं हो सका है। शासन ने इस माह के अंत तक सभी प्रमाणपत्रों के सत्यापन करने के निर्देश दिए हैं जिसकी कोई उम्मीद नजर नहीं आती। 

विशिष्ट बीटीसी के करीब एक लाख चयनित शिक्षक अलग-अलग स्कूलों में तैनात हैं। इन्हें आठ महीने से वेतन नहीं मिला। पिछले दिनों शासन ने निर्देश दिए थे कि जिनके हाईस्कूल, इंटर, स्नातक व बीएड के प्रमाणपत्रों में किन्हीं दो के प्रमाणपत्र सत्यापित हो गए हैं उनसे शपथ पत्र लेकर सितम्बर का वेतन दे दिया जाए। इसके अलावा सभी शिक्षकों के प्रमाणपत्र को सत्यापन 31 अक्टूबर तक कर दिया जाए और नवम्बर से उन्हें नियमित वेतन भुगतान करना शुरू कर दिया जाए।

लेकिन जिलों से जो खबर आ रही है वह इन शिक्षकों के लिए निराशाजनक है। अस्सी फीसदी शिक्षकों के केवल एक प्रमाणपत्र सत्यापित हुए हैं। अधिकांश शिक्षकों के एक भी प्रमाणपत्र सत्यापित नहीं है। हाईस्कूल व इंटरमीडिट के प्रमाणपत्र यूपी बोर्ड द्वारा सत्यापित किए जा रहे हैं। लेकिन जिन छात्रों ने यूपी के बाहर के बोर्ड से हाईस्कूल-इंटर किया है उनके प्रमाणपत्र सत्यापित होने में दिक्कतें पेश आ रही हैं।

स्नातक के प्रमाणपत्रों को सत्यापित करने में कालेज व विश्वविद्यालय लापरवाही कर रहे हैं। विश्वविद्यालयों में प्रमाणपत्र सत्यापन के लिए भेजे तीन महीने से ज्यादा वक्त हो गया लेकिन अधिकांश विश्वविद्यालयों की ओर से कोई जवाब नहीं आया। सबसे ज्यादा दिक्कत बीएड के प्रमाणपत्रों के सत्यापन में हो रही है। जिन्होंने यूपी के बाहर किसी संस्था से बीएड की डिग्री हासिल की है उन्हें सत्यापन में दिक्कत आ रही है। ज्यादातर डॉयट प्राचार्यो ने सत्यापन की जिम्मेदारी शिक्षकों पर ही डाल दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हजारों प्राथमिक शिक्षकों के वेतन पर ग्रहण