DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुणवत्ता जांचने को इंजीनियर तैनात

महाकुंभ में सड़कों के निर्माण पर अब तक लोक निर्माण विभाग करीब 55 करोड़ खर्च चुका है। कार्यो में गुणवत्ता की जांच के लिए शासन स्तर पर सचिवों व अपर सचिवों के अतिरिक्त करीब 15 निजी विशेषज्ञ इंजीनियरों की टीम तैनात की गई है। साथ ही जल निगम, जल संस्थान व गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई से समन्वय स्थापित कर कार्य करने के लिए कहा गया है।

महाकुंभ में सड़कों के निर्माण कार्य समय से पूरे करने को लेकर लोक निर्माण विभाग तेजी से जुटा है। उसके पास अभी तक 112 करोड़ के कुल 23 कार्य स्वीकृत हैं। विभाग का दावा है कि अब तक वह करीब 55 करोड़ के 15 कार्य पूरे कर चुका है। इसके लिए तीन हाट मिक्स व गैस मिक्सिंग प्लांट दिन रात कार्य कर रहे हैं।

सबसे महत्वपूर्ण बात स्थाई कार्यो में गुणवत्ता की है। इसको लेकर शासन स्तर से कई सचिवों व अपर सचिवों को कुंभ कार्यो के निरीक्षण की जिम्मेदारी दी गई है। सचिव व अपर सचिव दैनिक कार्यो की नियमित रिपोर्टिग कर मुख्य सचिव को दे रहे हैं। लेकिन सचिवालय में कार्य की व्यस्तता की वजह से अब तक नियुक्त किए गए आधे ही सचिव मौका मुआयना करने गए।

उधर, कुंभ में सड़कों के लिए नियुक्त नोडल अधिकारी व अधीक्षण अभियंता केके जैन का कहना है कि कार्यों में गुणवत्ता का पूरा ख्याल रखा जा रहा है। इसके लिए विभागीय स्तर पर 15 निजी इंजीनियरों को नियुक्त किया गया है। ये नियमित मानिटरिंग कर रिपोर्ट दे रहे हैं।

उनके अनुसार जल निगम, जल संस्थान व गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई द्वारा सीवर, पेयजल लाइनों व अन्य कार्यो के लिए सड़कों को खोदे जाने से भी समस्या खड़ी हो रही है। इसको देखते हुए ही विभाग ने उनसे कार्यो का समय सारिणी मांगी है। जिससे उसके अनुसार सड़कों के कार्य किए जा सकें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गुणवत्ता जांचने को इंजीनियर तैनात