DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेक्टरों की सुरक्षा बड़े-बुढ़ों के कंधों पर... उम्रदराज हैं सुरक्षाकर्मी

अधिकतर सुरक्षाकर्मी उम्रदराज है, जिनकी उम्र औसतन पचास से लेकर साठ वर्ष के बीच है और हाथों में है सेक्टरों की सुरक्षा-व्यवस्था। आलम यह है कि कई सेक्टरों में तो सुरक्षा को लेकर कोई चौकीदार ही नहीं है और तो ओर कई सेक्टरों में गेट तक नहीं लगे हुए हैं।

सेक्टर-11 के ज्यादातर ब्लॉकों जैसे- जे के एल आदि में अभी तक बांउन्ड्री वॉल ही नही है। गेट नही होने के कारण यहां कि सुरक्षा-व्यवस्था बेकार पड़ी हुई है। एक-दो ब्लॉक में ही सेक्टरवासियों की सुरक्षा-व्यवस्था के लिए केवल दो चौकीदार हैं, जिनकी उम्र चालीस व दूसरे की लगभग साठ वर्ष है। इसी प्रकार सेक्टर-12 में सबसे ज्यादा ब्लॉक हैं लेकिन इसके अधिकांश ब्लॉक में अभी तक बाउंड्री वॉल ही नहीं है।

सेक्टर-19, 20, 27, 34, 52, 61 में सुरक्षा-व्यवस्था को कुछ ही ब्लॉकों के गेटों में चौकीदार है वरना इन सेक्टरों की सुरक्षा भगवान भरोसे है। कुछ सेक्टरों में तो आरडब्ल्यू के अध्यक्षों का अता-पता ही नहीं है और ना ही इन्हें अपने सेक्टरों की सुरक्षा को लेकर किसी प्रकार की कोई चिंता ही है।

अधिकतर सेक्टरों जैसे-19ए, 15ए, 27 आदि में सेक्टरवासी अपनी सुरक्षा को लेकर खुद ही सतर्क हैं और वे सब मिलकर सेक्टरों व अपनी सुरक्षा के लिए सुरक्षा गार्ड की व्यवस्था स्वयं कर रहे हैं। इसके साथ ही रोचक बात यह है कि अधिकांश सभी सेक्टरों में गार्डों की उम्र पचास से ऊपर की है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सेक्टरों की सुरक्षा बड़े-बुढ़ों के कंधों पर...