DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसएमएस से चल रहा है चुनावी वॉर

आपके सपने मेरे अपने, आपका विकास मेरा संकल्प..ये है वो एसएमएस जिसे चुनाव मैदान में उतरे प्रत्याशी वोटरों के मोबाइल पर भेजकर वोट मांग रहे हैं। विधानसभा चुनाव के दिन नजदीक आते ही प्रत्याशियों के बीच एसएमएस वॉर शुरू हो चुका है। इसमें सबसे आगे हैं भाजपा प्रत्याशी। कोई वॉयस एसएमएस, तो कोई लिखित एसएमएस के जरिए अपना प्रचार कर रहा है।


इसके लिए उम्मीदवारों ने दिल्ली और नोएडा बेस्ड ‘गेटवे सर्विस’ कंपनियों का सहारा लिया है। एनआईटी विस क्षेत्र से चुनाव मैदान में उतरे भाजपा उम्मीदवार महेंद्र भड़ाना का एसएमएस कई दिनों पहले से शुरू हो चुका है। इसमें वह अपने क्षेत्र की प्रगति करने के नाम पर वोट मांग रहे हैं। भाजपा की बड़खल विस क्षेत्र की प्रत्याशी सीमा त्रिखा वॉयस एसएमएस से वोट मांग रही हैं। अपनी आवाज में रिकॉर्डिड उनका वॉयस एसएमएस है-‘मैं आपकी अपनी बेटी, बहन सीमा त्रिखा बोल रही हूं। एक बेटी., मां और बहन के रूप में बड़खल क्षेत्र में आपकी समस्याओं को दूर करने के लिए कटीबद्ध हूं..’। इनके अलावा तिगांव से चुनाव लड़ रहे भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष कृष्णपाल गुजर्र, पृथला के भाजपा प्रत्याशी नैनपाल रावत सहित कांग्रेस और हजकां प्रत्याशियों ने इस तकनीक का सहारा लेकर प्रचार शुरू किया है। भाजपा के हरियाणा प्रदेश संयोजक नीरज गौड़ ने बताया कि इसके लिए उनके पार्टी प्रत्याशियों ने दिल्ली की नेट टेक्नोलॉजी कंपनी से पैकेज लिया है। राजनीतिक जानकारों का कहना है कि एसएमएस वॉर अभी और तेज होगा।

क्या है वॉयस एसमएस
इसमें प्रत्याशी अपनी आवाज में 30 सैकेंड से लेकर एक मिनट तक संदेश रिकॉर्ड कर वोटरों को मोबाइल पर भेज सकता है। प्रत्याशी को हूबहू सुनाई देगा।

ऐसे भेजते हैं एसएमएस
गेटवे सर्विस प्रोवाइडरों से 50 हजार से लेकर लाखों एसएमएस का पैकेज लिया जाता है। गेटवे प्रोवाइडर नेटवर्क कंपनियों से नंबरों का डाटा खरीदकर उन पर एसएमएस करी है। एक बार में एक हजार वोटरों को एसमएस किया जाता है।

------ये हैं रेट------
- एक एससमसस की कीमत 15 से 20 पैसे
- व्यॉस एसएमएस 30 सैकेंड से एक मिनट का होता। इसका रेट 60 से 90 पैसे की बीच है।
- दिल्ली और नोएडा की एसएमएस टेक्नोलॉजीस, एसएमएस मंत्र, फिनलैंड और डॉलफिन, एमपॉवर ग्लोबल एक्सेस इंडिया प्राइवेट लिमिटेड  सहित कई गेटवे कंपनियां इस सेवा को प्रोवाइड करवा रही हैं।

---- गेटवे प्रोवाइडर कमा रहे मुनाफा---
गेटवे प्रोवाइडर प्रत्याशियों से एसएमएस के नाम पर मोटा मुनाफा कमा रहे हैं। प्रत्याशियों को ज्यादा क्वांटिटी में पैकेज के लिए उकसा कर उन क्षेत्रों में भी एसएमएस कर रहे हैं। जहां उस प्रत्याशी का वोटर नहीं है। उदाहरण के तौर पर गुड़गांव के बादशाहपुर से हजकां प्रत्याशी का एसएमएस फरीदाबाद के लोगों को मिल रहा है। इससे उस प्रत्याशी को कोई फायदा नहीं होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एसएमएस से चल रहा है चुनावी वॉर