DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बलिया में 44 लाख के गबन में आरईएस का जेई गिरफ्तार

कोतवाली पुलिस ने शुक्रवार की रात लाखों के गबन के मामले में आरईएस के अवर अभियंता सुनील सिंह को गिरफ्तार कर लिया। तीन माह पहले विभाग के एक्सईएन की तहरीर पर आधा दजर्न अभियंताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था।

जिले में दैवीय आपदा कोष से होने वाले बाढ़ राहत कार्य के लिए ग्रामीण अभियंत्रण विभाग ने लाखों का टेंडर निकाला। ठेका आवंटन के बावजूद बाढ़ के दौरान क्षतिग्रस्त हुई सड़कों पर काम नहीं हुआ। सूत्रों की मानें तो कुछ  लोगों ने इसकी शिकायत शासन से की। शासन के निर्देश पर आरईएस के अधीक्षण अभियंता ने जांच कर अपनी रिपोर्ट सौंप दी। बताया जाता है कि, अधीक्षण अभियंता की जांच में ठेकेदार व अभियंताओं की मिलीभगत से बिना काम कराये ही सरकारी धन की बंदरबांट कर लेने का मामला प्रकाश में आया।

अधीक्षण अभियंता की रिपोर्ट पर शासन ने ठेकेदार व अभियंताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का निर्देश आरईएस के एक्सईएन को दिया। तीन माह पहले रहे अधिशासी अभियंता बी.के. सिंह गौर की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने तीन अभियंताओं सहित आधा दजर्न लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली, जिसमें ठेकेदार भी शामिल हैं।

तहरीर में एक्सईएन ने पुलिस को बताया कि, दैवीय आपदा कोष से बाढ़ राहत के लिए होने वाले कार्य में करीब 44 लाख रुपये का गबन किया गया है। सूत्रों की मानें तो मुकदमा दर्ज होने के बाद से ही नामजद अभियंता अरेस्ट स्टे के लिए उच्च न्यायालय का चक्कर काट रहे थे, लेकिन उसमें सफलता नहीं मिली।

उधर, पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि नामजद एक अवर अभियंता आवास पर मौजूद हैं, तो उसने छापेमारी कर उन्हें धर दबोचा। कोतवाल आर.पी. शर्मा ने बताया कि, जेई सुनील सिंह का स्थानांतरण आजमगढ़ के लिए हो गया था। उन्होंने कहा कि गिरफ्तार अभियंता बिहार के फुलवारी शरीफ (पटना) का मूल निवासी है। कोतवाल ने कहा कि अन्य आरोपितों को भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:44 लाख के गबन में आरईएस का जेई गिरफ्तार