DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राम भरोसे है तीनों स्टेशनों की सुरक्षा

रोहतक, दिल्ली, फरीदाबाद सहित तकरीबन बारह रेलवे स्टेशनो को दीवाली पर कार बम से उड़ाने की धमकी दिए जाने से इनके स्टेशन अधीक्षकों के हाथ पांव फूले हुए हैं। खुफिया विभाग से लीड मिलने के बाद यहां के तीन रेलवे स्टेशनों की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने के सख्त निर्देश दिए गए हैं। लेकिन यहां की जीआरपी और आरपीएफ की हालत ऐसी नहीं कि किसी बड़े हादसों को रोका जा सके।


फरीदबाद में तीन रेलवे स्टेशन है। इसमें सबसे महत्वपूर्ण है ओल्ड फरीदाबाद रेलवे स्टेशन। कई बार इस स्टेशन को उड़ाने की धमकी आतंकी से मिल चुकी है। खुफिया जानकारी के अनुसार दिल्ली बम ब्लास्ट करने वाले इसी स्टेशन पर विस्फोटक लेकर उतरे थे। बावजूद इसके स्टेशन पर आने जाने के रास्ते सीमित नहीं है। स्टेशन पर कहीं से कोई भी प्रवेश कर सकता है। शनिवार दोपहर 1. 40 बजे मुख्य एंट्रेंस पर लगा मैटल डिटेक्टर भी खराब पड़ा था। इसकी जगह जीआरपी के जवान आने जाने वालों और उनके सामान की जांच हैंड मैटल डिटेक्टर से करते मिले। सुरक्षाकर्मियों के अभाव में प्लेटफार्म पर प्रॉपर गश्त नहीं हो पाता। एटीएस के छह को दिन में और छह जवानों को रात में सुरक्षा का जिम्मा दिया गया है। चुनाव के चलते सुरक्षा में स्टेशनों पर लगाए गए होमगार्ड भी हटा लिए गए हैं। स्टेशन के बाहर बनी पिकेट भी  बंदूक धारी जवान से खाली हो चुकी है। फिर भी जीआरपी थाना प्रभारी रणधीर सिंह का दावा है कि उनकी सुरक्षा व्यवस्था अभेद है।

पार्किग पर नहीं किसी की नजर
ओल्ड फरीदाबाद रेलवे स्टेशन परिसर में यात्री अवैध रूप से वाहन पार्क कर रहे हैं। पार्किग में वाहन खड़ा करने वालों पर किसी की नजर नहीं। जो इस स्टेशन के लिए सबसे बड़ा खतरा है।
--------------
बारबार फगवाड़े से क्यों आते हैं धमकी भरे पत्र
पिछले साल से अब तक जितने धमकी भरे पत्र मिले। सभी पंजाब के फगवाड़ा से पोस्ट किए गए थे। सभी की हैंड राइटिंग एक जैसी है। यहां तक कि सभी हिंदी में लिखे गए हैं। लिखने का तरीका भी एक जैसा है।
------------------
दिल्ली धमाके में आया फरीदाबाद स्टेशन का नाम
कनॉट प्लेस में पिछले साल हुए धमाकों में ओल्ड फरीदाबाद का नाम आया। जांच ऐंजेसियों को जानकारी मिली थी। विस्फोटक सहित इस स्टेशन पर उतर कर आतंकी बाटला हाउस पहुंचे थे।
-----------------------
ये है इंतजाम
- जीआरपी के पास 450 राउंड गोलियां। इंसास, कारबाइन, पिस्टल, 3 नॉट 3 बंदूक और स्टेनगन।
- आरपीएफ के पास 350 राउंड गोलियां। जो होती हैं कारबाइन, राइफल, 3 नॉट 3 बंदूक और स्टेनगन में इस्तेमाल।
- जीआरपी के पास है बम स्क्वॉयड किट। इसका इस्तेमाल सिर्फ हैड कांस्टेबल रमेश जानते हैं।
- एटीएस के 12 जवान आतंकी हमलों के लिए तैनात हैं
- प्लेटफार्म पर दो बंकर बनाए गए थे। जो अब टूट चुके हैं।
-------------------
पहले भी मिली धमकियां
- सबसे पहले धमकी 2004 में मिली
- मई 2006 में तत्कालीन ओल्ड रेलवे स्टेशन सुप्रीटेंडेंट को आतंकी अलबदर ने पोस्टकार्ड से दी धमकी
- 29 मार्च 2008 को एक धमकी भरा पत्र कुरुक्षेत्र रेलवे स्टेशन पर इस स्टेशन को उड़ाने के लिये भेजा गया । इसमें 13 अप्रेल 2008 को धमाकों की बात लिखी हुई थी।
- बराड़ा रेलवे स्टेशन सुप्रीटेंडेंट प्रदीप कुमार को 26 मई 2008 को पंजाब के बबर खालसा आतंकी संगठन ने फरीदाबाद रेलवे स्टेशन को उड़ाने की धमकी दी।
- 6 अक्तूबर 08 को फरीदाबाद के डीसी को धमकी भरा पोस्टकार्ड मिला। इसमें ओल्ड फरीदाबाद रेलवे स्टेशन सहित सात स्टेशनों को उड़ाने की थी।
- 11 अक्तूबर 08 को गोहाना रेलवे स्टेशन उड़ाने की धमकी
- 30 सितंबर 09 रोहतक रेलवे एसएस को लश्कर-ए-तैयब के एरिया कमांडर के दो पत्र मिले। तीसरा पत्र दिल्ली रेलवे स्टेशन एसएस को मिला।
---------------------------------
ट्रेनों में बम की अफवाह
- 30 जुलाई 08 तूफान एक्सप्रेस में बम की सूचना
- 19 अगस्त 08 को तमिलनाडु एक्सप्रेस में बम की अफवाह
- 6 जून 2009 को जीडीएम-2 में बम होने की अफवाह

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राम भरोसे है तीनों स्टेशनों की सुरक्षा