DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डेयरी प्रबंधन के खिलाफ मजदूरों का धरना प्रदर्शन

ऑल इंडिया सेन्ट्रल काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियन्स  (एक्टू) के बैनर तले बिहार में पटना स्थित सुधा डेयरी में कार्यरत सैकड़ों ठेका मजदूरों ने न्यूनतम मजदूरी समेत नौ सूत्रीय मांगों के समर्थन में शनिवार को जमकर धरना प्रदर्शन किया और बाद में प्रबंध निदेशक का पुतला जलाया।


एक्टू के राज्य सचिव रणविजय कुमार ने धरना प्रदर्शन नेतृत्व किया और उपस्थित मजदूरों को संबोधित करते हुए कहा कि सुधा डेयरी के प्रबंध निदेशक सुधीर कुमार ने इसे निजी संपत्ति समझ लिया है और मनमाने ढंग से अपने निर्णय कर्मचारियों पर थोप रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रबंध निदेशक डेयरी में जबरन निजी श्रम कानून स्थापित करने में लगे हैं। जिससे मजदूरों के हितों की अनदेखी हो रही है।


 रणविजय कुमार ने आरोप लगाया कि डेयरी में राज्य सरकार का नहीं बल्कि सुधीर कुमार का कानून चलता है। उन्होंने मजदूरों के लिए पहचान पत्र के साथ-साथ ईएसआईजीपीएफ की सुविधा दुर्घटना मुआवजा समेत नौ सूत्रों मांगों को तत्काल पूरा करने की मांग करते हुए कहा कि यदि उनकी मांगे नहीं मानी गई तो आंदोलन को अधिक उग्र किया जाएगा। इसके बाद सभी ने प्रबंध निदेशक सुधीर कुमार का पुतला दहन किया। इससे पूर्व बड़ी संख्या में ठेका मजदूरों ने सुबह डेयरी संयत्र के बाहर मुख्य मार्ग पर एकत्रित होकर धरना प्रदर्शन किया जो मुख्य द्वार पर पहुंच कर समाप्त हो गया। इस दौरान आक्रोशित मजदूर प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रहे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डेयरी प्रबंधन के खिलाफ मजदूरों का धरना प्रदर्शन