DA Image
29 फरवरी, 2020|9:26|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाकपा ने नरसंहार की निंदा की

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) की बिहार इकाई ने खगडि़या नरसंहार की कड़ी निंदा करते हुए राज्य सरकार से तत्काल दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग की है।


राज्य परिषद के सचिव बद्री नारायण लाल ने शनिवार को बताया कि पार्टी के जांच दल ने घटनास्थल का दौरा करने के बाद रिपोर्ट दी है कि इस घटना के पीछे भूमि विवाद मुख्य कारण है। जांच दल के अनुसार घटना जातीय टकराव का परिणाम नहीं है। उन्होंने राज्य सरकार पर आरोप लगाया कि यदि भूमि सुधार कार्यक्रम को पूरा कर लिया गया होता तथा अमौसी गांव की भूमि विवाद का उचित निष्पादन कर दिया होता तो नरसंहार की यह घटना नहीं होती।


लाल ने बताया कि जांच दल को ग्रामीणों ने बताया कि झगड़ों का कारण गैर मजरूआ जमीन के दो टुकड़े हैं। उन्होंने बताया कि अमौसी गांव के 80 महादलित जातियों के भूमिहीन परिवार जमीन के उक्त टुकड़ों की बंदोबस्ती के लिए एडीएम खगडि़या के न्यायालय में मामला दर्ज कराया हुआ है। उन्होंने बताया कि जमीन के इसी टुकडों पर इचरूआ गांव के कुछ लोग अपना दावा पेश करने लगे हैं जिसके कारण विवाद चल रहा था। उन्होंने आरोप लगाया कि उस जमीन की बंदोबस्ती भूमिहीनों के बीच कर दी गई होती तो इस नरसंहार को टाला जा सकता था।
 
भाकपा ने सरकार से हत्यारों की तत्काल गिरफ्तारी मृतक के परिजनों को 10.10 लाख रूपए का मुआवजा नक्सली हिंसा रोकने के लिए प्रशासनिक कारगर कदम उठाने उक्त गैर मजरूआ जमीन को भूमिहीन दलितों के बीच बंदोवस्ती कर कब्जा दिलवाने विशेष प्रशासनिक अभियान चलाकर भूमि सुधार कार्यक्रम को पूरा करने खगडि़या जिला पुलिस प्रशासन में व्यापक फेरबदल करते हुए अलौली के प्रखंड विकास पदाधिकारी को अविलंब मुअत्तल करने एवं भूमि सुधार से संबंधित अदालतों और राजस्व कार्यालयों में लंबित सभी मामलों को फास्ट ट्रैक कोर्ट लगाकर शीघ्र निष्पादित करने की मांग की है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:भाकपा ने नरसंहार की निंदा की