DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कभी भी छिड़ सकता है रुस से संघर्षः नाटो

कभी भी छिड़ सकता है रुस से संघर्षः नाटो

उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) की सेना के एक शीर्ष कमांडर ने चेतावनी दी है कि आर्कटिक क्षेत्र में संसाधनों पर कब्जा करने को लेकर जारी होड़ से उसके और रूस के बीच कभी भी संघर्ष छिड़ सकता है।

नाटो सेना के एडमिरल जेम्स स्टावरिडिस ने कहा कि सैन्य गतिविधियां और व्यापारिक रास्ते इस धुव्रीय इलाके में चारो तरफ दोनों पक्षों के बीच प्रतिस्पर्धा बढा सकते हैं। उन्होंने कहा कि यह एक ऐसा विषय है जिस पर हमें और ध्यान देना होगा। मैं आर्कटिक के उत्तरी हिस्से की तरफ ध्यान केंद्रित करता हूं तो पाता हूं कि संभवतः वहां पर संघर्ष और प्रतिस्पर्धा तेज हो सकती है। हालांकि गठबंधन के रूप में जितना हो सके उतना हमें इसे सहयोगकारी बनाना चाहिए।

एडमिरल स्टावरिडिस का आकलन ऐसे समय में आया है जब पिछले हफ्ते ही नाटो के महासचिव एंडर्स फोघ रास्मूस्सेन ने चेतावनी दी थी कि जलवायु परिवर्तन का नाटो की सुरक्षा पर व्यापक प्रभाव पड़ेगा। ध्रुवीय इलाकों में बर्फ के पिघलने से व्यापार का उत्तरी पश्चिमी रास्ता खुल जाएगा। ऐसा अनुमान लगाया गया है कि आर्कटिक में चारो तरफ फैली बर्फ के नीचे नब्बे अरब डॉलर की कीमत का कच्चा तेल दबा पड़ा है।

रूस ने आर्कटिक क्षेत्र पर अपना दावा मजबूत करने के लिए पिछले कुछ समय से आक्रामक अभियान चला रखा है। इसी वर्ष फरवरी महीने में रूसी पनडुब्बी ने वहां पर रूस का झंडा फहाराया था। रूस की पूरी कवायद का मकसद यह सिद्ध करना था कि आर्कटिक का वह इलाका रूसी सरजमीं का एक हिस्सा है।

ज्ञातव्य है कि नाटो के सदस्य देशों अमेरिका, कनाडा, नार्वे, डेनमार्क और रुस ने आर्कटिक के एक दूसरे के क्षेत्रों पर अपना दावा किया हुआ है। एडमिरल स्टॉवरिडिस ने कहा कि वहां पर कुछ ऐसे क्षेत्र हैं, जहां नाटो गठबंधन और रूस के बीच असहमति होगी। हालांकि उन्होंने रुस के साथ सैन्य स्तर पर सहयोग के लिए आगे बढ़ने की प्रक्रिया के प्रति आशा जताई।

एडमिरल स्टावरिडिस ने एक बार फिर से अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हुए कहा कि यदि किसी नाटो सदस्य देश पर हमला होता है तो इसे सभी सदस्यों पर हमला माना जाएगा। हालांकि उन्होंने चेतावनी दी कि नाटो को विश्व पुलिस जैसी भूमिका से बचना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा द्वारा यूरोप में मिसाइल रोधी प्रणाली लगाने की योजना त्याग देने के बाद रूस और पश्चिमी देशों के बीच रिश्तों में गर्माहट आनी शुरू हो गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कभी भी छिड़ सकता है रुस से संघर्षः नाटो