DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब भगत सिंह की जन्मतिथि पर विवाद

अब भगत सिंह की जन्मतिथि पर विवाद

भगत सिंह की जयंती 27 और 28 सितंबर को मनाई जाती रही है। भारत सरकार तथा पंजाब सरकार के आधिकारिक रिकॉर्ड में यह 28 सितंबर के रूप में दर्ज है लेकिन अब एक अन्य इतिहासकार ने दावा किया है कि शहीद ए आजम इन तिथियों को नहीं बल्कि 19 अक्तूबर 1907 को पैदा हुए थे।

कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय में इतिहास के पूर्व प्रोफेसर रहे केसी यादव द्वारा संपादित भगत सिंह की आत्मकथा मैं नास्तिक क्यों हूं में शहीद ए आजम की जन्मतिथि 19 अक्तूबर 1907 के रूप में दर्ज है। जब उनसे उनके दावे के आधार के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उन्होंने यह तारीख तथ्यों की जांच पड़ताल के बाद ही लिखी है।

यादव ने दावा किया कि मदन मोहन मालवीय के अखबार अभ्युदय में भगत सिंह की फांसी के बाद उनकी जन्मतिथि 19 अक्तूबर ही बताई गई थी जो उनके पास रिकॉर्ड के रूप में मौजूद है। उन्होंने कहा कि क्रांतिकारी जितेंद्र नाथ सान्याल ने भी भगत सिंह के जन्म का महीना अक्तूबर बताया था। यादव ने हालांकि यह भी कहा कि क्रांतिकारी मन्मथ लाल गुप्त के अनुसार भगत सिंह की जन्मतिथि 28 दिसंबर 1907 है।

यादव ने कहा कि उनके हिसाब से भगत सिंह की सही जन्मतिथि 19 अक्तूबर 1907 ही है। उन्होंने तर्क दिया कि उनके द्वारा बताई गई तारीख का भगत सिंह के भतीजे दिवंगत बाबर सिंह संधु ने भी समर्थन किया था और पुस्तक के संपादक के रूप में उनका नाम भी लिखा है।

यादव से जब यह पूछा गया कि उच्चतम न्यायालय के संग्रहालय में प्रदर्शित की गई भगत सिंह की जन्मकुंडली में उनकी जन्मतिथि 28 सितंबर लिखी हुई है तो उन्होंने कहा कि यह गड़बड़ इसलिए हुई क्योंकि किसी ने विक्रम संवत की तारीख की गलत व्याख्या कर दी होगी। यादव की यह पुस्तक होप इंडिया पब्लिकेशंस द्वारा प्रकाशित की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब भगत सिंह की जन्मतिथि पर विवाद