DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गंगानगर में गैस रिफलिंग के समय हुआ हादसा

आपूर्ति विभाग के अधिकारी कुछ भी दावा करे लेकिन, महानगर में गैस रिफलिंग का धंधा रुकने का नाम नहीं ले रहा है। शुक्रवार को गंगानगर के आई ब्लॉक चौराहे पर एक दुकान में गैस रिफलिंग के दौरान सिलेंडर में आग लग गई, जिसमें दुकान स्वामी, उसका बेटा और गैस भरवाने आए दो छात्र झुलस इस दौरान रिफलिंग सेंटर आग लगने से पूरी तरह से जलकर स्वाहा हो गया। घायलों को अस्पताल मेंभर्ती कराया गया है, जहां दो बाप-बेटे की हालत चिंताजनक है। गनीमत यह रही कि सिलेंडर नहीं फटा नहीं तो उससे होने वाले विष्फोट से गंगानगर में कुछ दूसरा ही मंजर नजर आता।

गंगानगर आई ब्लॉक मकान नंबर 423 में किराये पर रहने वाले रणधीर सिंह की गंगानगर चौराहे पर दुकान नंबर 420 में कपिल गैस सर्विस सेन्टर के  नाम से दुकान है। रणधीर और उसका बेटा विवेक दोनों दुकान का कामकाज देखते हैं। शुक्रवार की दोपहर करीब साढ़े 12 बजे दुकान पर एक कॉलेज के दो छात्र छोटे सिलेंडर में गैस भरवाने के लिए आए थे। विवेक रसोई गैस सिलेंडर से छोटे गैस भरने लगा। इस दौरान अचानक बड़े वाले सिलेंडर में आग लग गई। आग इतनी तेजी से फैली कि दुकान में रखे सामान को अपनी चपेट में ले लिया।

सिलेंडर में आग लगने और फटने की आशंका से आप-पास के दुकानदारों व लोगों में हड़कंप मच गया। तत्काल इसकी सूचना सिटी कंट्रोल रुम को दी गई। लोगों ने किसी तरह सिलेंडर पर पानी व मिट्टी डालकर आग पर काबू पाया। सिलेंडर में आग बुझने के बाद लोगों ने राहत की सांस ली। इस बीच मौके पर फायर ब्रिगेड भी पहुंच गई। इधर आग बुझाने के चक्कर में दुकान मालिक रणधीर व उसका बेटा विवेक और दोनों छात्र जल गए।

अफरा तफरी माहौल में दोनों छात्र मौके से गायब हो गए, जबकि दुकान मालिक व उसके बेटे को गंभीर हालत में दिव्य ज्योति नसिंग होम में भर्ती कराया गया, जहां से उन्हें मेडिकल अस्पताल में रैफर कर दिया गया। गंगानगर पुलिस ने रिफलिंग में इस्तेमाल किया जा रहा रसोई गैस सिलेंडर व दो छोटे सिलेंडर कब्जे में लिए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गंगानगर में गैस रिफलिंग के समय हुआ हादसा