DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इलाहाबाद में तीन और एसटीपी का खाका तैयार

गंगा को प्रदूषण मुक्त करने के लिए तीन और सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) बनाए जाएँगे। इन प्लांटों में आठ करोड़ पचास लाख गंदा पानी प्रतिदिन ट्रीट कर गंगा में बहाया जाएगा। तीनों ट्रीटमेंट प्लांट तक गंदा पानी पहुँचाने के लिए 14.211 किमी लम्बी सीवर लाइन बिछाई जाएगी। इसके लिए नए सीवेज पंपिंग स्टेशन बनाए जाएँगे और और पुराने पंपिंग स्टेशनों को सुधारा जाएगा। सभी का डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार कर प्रदेश सरकार को भेज दिया गया है। प्रमुख सचिव नगर विकास आलोक रंजन पाँच अक्टूबर को एसटीपी का डीपीआर केंद्र सरकार के समक्ष पेश करेंगे।

नुमायाडाही, कोडरा और पोंगहट में सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाने की योजना तैयार की गई है। इनमें यमुना नदी के तट पर नुमायाडाही में पाँच करोड़ लीटर शोधन क्षमता का प्लांट बनेगा। गंगा के तट पर प्रस्तावित कोडरा और पोंगहट प्लांटों की क्षमता क्रमश: ढाई व एक करोड़ लीटर प्रतिदिन होगी। 336.07 करोड़ की तैयार योजना में नैनी ट्रीटमेंट प्लांट की क्षमता छह करोड़ से बढ़ाकर आठ करोड़ लीटर प्रतिदिन की जाएगी।

पिछले दिनों शासन के माध्यम से केंद्र सरकार को भेजी गई योजना में प्लांट तक गंदा पानी ले जाने के लिए चार नए सीवेज पंपिंग स्टेशन क्रमश: घाघर, ससुर खदेरी, पोंगहट और कोडरा में बनाए जाएँगे। इसी योजना के तहत चाचर, गऊघाट और लूकरगंज में पहले से कार्यरत पंपिंग स्टेशनों की क्षमता बढ़ाई जाएगी। 8.05 किमी लम्बी राइजिंग मेन का निर्माण किया जाएगा। इसके अलावा तीन अरब 36 करोड़ की योजना में सामुदायिक शौचालय और धोबीघाट आदि के निर्माण का भी प्रस्ताव है।

इससे पूर्व केंद्र सरकार ने हाल ही में राजापुर ट्रीटमेंट प्लांट की स्वीकृति दी थी। इस ट्रीटमेंट प्लांट में रोज छह करोड़ गंदा पानी प्रतिदिन ट्रीट किया जाएगा। तीन अरब 56 करोड़ की लागत से तैयार होने वाले प्लांट के लिए 260 किमी लम्बी सीवर लाइन बिछाई जाएगी। तीन पुराने पंपिंग स्टेशनों के सुधार तथा तीन नए पंपिंग स्टेशन बनाए जाएँगे। गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई के एक अधिकारी ने बताया कि प्लांट इलाहाबाद में आयोजित अगले कुम्भ से पहले तैयार करने की योजना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इलाहाबाद में तीन और एसटीपी का खाका तैयार