DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुनिया भर में विकराल रूप ले रहा स्वाइन फ्लू

दुनिया भर में विकराल रूप ले रहा स्वाइन फ्लू

अंतरराष्ट्रीय प्रयासों के बावजूद दुनिया भर में इंफ्लूएंजा एच1 एन1 का कहर जारी है और 191 देश में प्रभावित रोगियों की संख्या बढ़कर तीन लाख 19 हजार पहुंच गई है जबकि तकरीबन 3 लाख प्रयोगशालाएं इस रोग के जांच कार्य में लगी हुई है।

डब्ल्यूएचओ की ताजा रिपोर्ट के अनुसार दुनिया में स्वाइन फ्लू की चपेट में आ चुके 191 देशों में इस रोग से प्रभावित रोगियों की संख्या बढ़कर तीन लाख 19 हजार पहुंच गई है। अमेरिका सहित अनेक देश इसका प्रभावकारी टीका इजाद करने के प्रयास में लगे हुए है। इस रोग से मरने वालों की संख्या 3917 पहुंच चुकी है।

डब्ल्यूएचओ के ताजा आंकड़ों के अनुसार दुनिया भर में इस रोग के 3 लाख 18 हजार 925 मामलों की पुष्टि हुई है और इनमें से 3917 रोगियों की मौत हो चुकी है। इसके वायरस का संक्रमण जारी है और यह नए देशों को अपनी चपेट में ले रहा है।

एजेंसी का कहना है कि इस रोग से होने वाली मौतों और इसकी चपेट में आने वाले देशों की संख्या भविष्य में बढ़ सकती है। अभी तक दुनिया में इस घातक रोग का कोई कारगर टीका या इलाज नहीं है लेकिन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रयास चल रहा है तथा अगले महीने के मध्य तक इसके उपलब्ध होने की संभावना है।

रिपोर्ट में बताया गया है कि पूरी दुनिया में इस रोग से सबसे अधिक प्रभावित उत्तरी और दक्षिणी अमेरिका है। यहां अब तक एक लाख 30 हजार 448 मामलों की पुष्टि हुई और 2948 रोगियों की मौत हो चुकी है। रिपोर्ट के अनुसार उसके बाद पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र का स्थान है जहां स्वाइन फ्लू रोगियों के 85 हजार 299 मामले सामने आए हैं जबकि मरने वालों की संख्या 362 हो गई है, तीसरा स्थान दक्षिण पूर्व एशिया क्षेत्र का है जहां पर इसके 30 हजार 339 मामले आए हैं और 362 रोगियों की मौत हुई है।

रिपोर्ट के अनुसार इसी प्रकार यूरोप क्षेत्र में इस अवधि तक 53 हजार मामलों की पुष्टि और 154 रोगियों की मौत हो चुकी है जबकि पूर्वी भूमध्य क्षेत्र में इस रोग के 11 हजार 621 मामले सामने आए हैं और मरने वालों की संख्या 72 हो गई है। अफ्रीकी क्षेत्र में इस रोग के 8264 मामले आए हैं और मरने वालों की संख्या 41 पहुंच गई है।

डब्ल्यूएचओ के सूत्रों का कहना है कि इसी तरह से स्वाइन फ्लू की चपेट में आने वाले देशों की संख्या में भी लगातार वृद्धि होती जा रही है। इस घातक रोग से प्रभावित देशों की संख्या 6 अगस्त को 150 थी जो बढ़कर 191 हो गई है।

डब्ल्यूएचओ का कहना है कि दुनिया में अब तक इस रोग का कोई भी कारगर टीका उपलब्ध नहीं अब कुछ देशों ने इस रोग का टीका बनाने का दावा किया जब तक यह टीका इजाद नहीं होता है तब तक सतर्कता और सावधानी रखकर इससे बचा जा सकता है। डब्ल्यूएचओ ने 6 जुलाई से इन्फ्लूएंजा एच1 एन1 के रोगियों की संख्या नियमित रूप से जारी करना बंद कर दिया था और कहा था कि इससे सामाजिक और आर्थिक स्थिति प्रभावित होती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दुनिया भर में विकराल रूप ले रहा स्वाइन फ्लू