DA Image
30 मई, 2020|7:52|IST

अगली स्टोरी

पाक को खुला मुकदमा चलाना चाहिए: निकम

पाक को खुला मुकदमा चलाना चाहिए: निकम

मुंबई हमलों के मामले में नियुक्त विशेष सरकारी वकील उज्ज्वल निकम ने शुक्रवार को मांग की कि पाकिस्तानी अदालत को इस मामले में खुला मुकदमा चलाना चाहिए। इस मामले की शनिवार से सुनवाई होनी है।

निकम ने सवाल किया कि 26/11 के मुकदमे को मुंबई में खुली अदालत में चलाया जा रहा है तो पाकिस्तान ऐसा क्यों नहीं कर सकता। इन आतंकवादी हमलों के मुख्य आरोपी हाफिज मोहम्मद सईद को गिरफ्तार करने के लिए भारत द्वारा पर्याप्त सबूत नहीं दिए जाने संबंधी पाकिस्तान के आरोप के जवाब में उन्होंने कहा कि जब भारत ने पड़ोसी देश को छह बार दस्तावेज मुहैया करा दिए हैं, तो मामले की जांच करने का काम पाकिस्तानी एजेंसियों का है।

निकम ने कहा कि मुकदमे की खुली सुनवाई से यह और पारदर्शी होगा और मुकदमे की विश्वसनीयता पर संदेह का कोई आधार नहीं रह जाएगा। उन्होंने कहा कि मुंबई में खुला मुकदमा चलाने के लिए पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराई गई है।

निकम महाराजा सयाजीराव विश्वविद्यालय और बड़ौदा विधि स्कूल के विधि संकाय द्वारा आयोजित तीन दिवसीय विधि महोत्सव का उदघाटन करने के लिए शहर में आए हुए थे। इन महोत्सव में देशभर के 27 विधि कालेजों के युवा वकील भाग ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुकदमा अपने अंतिम दौर में पहुंच गया है और इस माह के अंत तक अभियोजन पक्ष की जिरह समाप्त हो जाएगी। इसके बाद बचाव पक्ष अपना पक्ष रखेगा।

निकम ने इस मामले में गिरफ्तार किए गए एकमात्र आतंकवादी मोहम्मद अजमल आमिर कसाब को एक ऐसा अभिनेता करार दिया जो मुकदमे में अपना रुख बार-बार बदलता रहा है।
 उन्होंने कहा कि इस मुकदमे में कसाब और नौ अन्य आतंकवादियों द्वारा रची गई साजिश के लिए काफी सबूत इकट्ठा किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि जीपीएस और इन उपकरणों से अमेरिकी एजेंसी एफबीआई द्वारा निकाले गए आंकड़ों से ताज महल होटल, ओबेराय होटल और नरीमन हाउस पर किए गए हमलों में साजिश रचने वालों की सक्रिय भागीदारी का पता चला है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:पाक को खुला मुकदमा चलाना चाहिए: निकम