DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हड़ताल से बचने का रास्ता तलाश रहे शिक्षा पदाधिकारी

झारखंड अवर शिक्षा सेवा संघ के पदाधिकारी अब हड़ताल से बचने का रास्ता तलाशने लगे हैं। संघ ने पांच अक्तूबर से हड़ताल पर जाने का ऐलान कर रखा है। सरकार के कड़े तेवर को देखते हुए पदाधिकारी अपने कदम पीछे खींचने लगे हैं। शुक्रवार को संघ के पदाधिकारियों को जैसे ही सूचना मिली कि प्राथमिक शिक्षा निदेशक डॉ डीके सक्सेना छुट्टी के दिन भी कार्यालय में बैठे हैं, तो बिन बुलाए उनसे मिलने पहुंच गए।

करीब दो घंटे के इंतजार के बाद निदेशक ने बुलाया और आने का कारण पूछा। जैसे ही संघ पदाधिकारी समस्याओं और मांगों की चर्चा करने लगे, निदेशक ने साफ कहा-इस पर कोई बात नहीं होगी। पहले प्रस्तावित हड़ताल खत्म करने की घोषणा करें। फिर वार्ता करेंगे। संघ के पदाधिकारियों की जी-हुजूरी के बाद भी निदेशक नहीं माने। हालांकि बाहर आकर पदाधिकारी अपनी पीठ जरूर थपथपा रहे थे।

उनका कहना था कि उनकी मांग पूरी हो गई हैं, इस कारण हड़ताल करना उचित नहीं होगा। आनन-फानन में देर शाम कुछ पदाधिकारियों ने आपस में मंत्रणा कर हड़ताल खत्म करने का निर्णय लगभग ले भी लिया। चार अक्तूबर की बैठक में सिर्फ इसकी औपचारिक घोषणा होनी है।

उल्लेखनीय है कि निदेशक ने हड़ताल की वैकल्पिक व्यवस्था का निर्देश आरडीडीइ को दिया था। बीपीओ को प्रखंड का चार्ज एवं स्कूल इंस्पेक्टर को जिम्मेवारी देने का निर्णय हुआ था। साथ ही हड़ताल पर गए पदाधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई की बात भी हो रही थी। इस कारण पदाधिकारी काफी सहमे हुए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हड़ताल से बचने का रास्ता तलाश रहे शिक्षा पदाधिकारी