DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्लोबल वार्मिंग पर भारत की मदद करेगा अमेरिका

ग्लोबल वार्मिंग पर भारत की मदद करेगा अमेरिका

अमेरिका ने गुरुवार को भारत जैसे विकासशील देशों के समक्ष तकनीकी रूप से विकसित होने और जलवायु परिवर्तन के कारण उपजी चुनौतियों पर ध्यान देने के लिए मदद करने की पेशकश रखी।

यूएस इंडिया एनर्जी पार्टनरशिप समिट में संबोधित करते हुए अमेरिकी ऊर्जा मंत्री स्टीवन चू ने कहा कि अमेरिका भारत जैसे विकासशील देशों की उनके लोगों की विकास संबंधी जरूरतों की पूर्ति की कोशिशों में मदद करने और कार्बन उत्सजर्न जैसे अहम मुद्दों पर ध्यान देने में मदद करने को तैयार है।

उन्होंने एनर्जी एंड रिसोर्स इंस्टीटयूट और येल यूनिवर्सिटी के इस सम्मेलन में कहा कि तकनीक के मामले में इस तरह की उन्नति किफायती तरीके से संभव है। सभी के अस्तित्व के मुद्दे पर विश्व से सहयोग करने का आहवान करते हुए केंद्रीय नवीन तथा अक्षय उर्जा मंत्री फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि भारत और अमेरिका को इस मुद्दे पर एकसाथ काम करना चाहिए।

अब्दुल्ला ने कहा कि भारत अब भी औद्योगिकीकरण की विकासशील अवस्था में है। उन्होंने कहा कि हमें नई तकनीक तक पहुंच की जरूरत है जो सभी के लिए उपलब्ध हो। इस मौके पर उपस्थित केंद्रीय पर्यावरण मंत्री जयराम रमेश ने कहा कि भारत सिंचाई के लिए काफी हद तक वर्षा और हिमालयी ग्लेशियरों पर निर्भर है। लिहाजा वह जलवायु परिवर्तन के मामले में काफी ज्यादा संवेदनशील है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ग्लोबल वार्मिंग पर भारत की मदद करेगा अमेरिका