DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रावण गिरोह का इनामी बदमाश मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार

दादरी कोतवाली पुलिस ने दस हजार रुपये के इनामी बदमाश अमित कसाना को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया है। अमित कुख्यात बदमाश रावण के गिरोह का मुख्य फाइनेंसर है। कासना पुलिस ने भी एक ढाई हजार रुपये इनामी को पकड़ा है।

विदित हो कि दादरी कस्बे में आतंक का पर्याय बन चुके नन्दू उर्फ रावण को गत माह दिल्ली पुलिस ने पकड़ लिया था। तभी से रावण से जुड़े बदमाशों की धरपकड़ के लिए छापेमारी की जा रही थी। एक पखवाड़े में गिरोह के चार बदमाशों को पकड़ लिया गया है। लेकिन दादरी पुलिस को गुरूवार को बड़ी सफलता अमित कसाना की गिरफ्तारी से मिली। अमित गेंगवार में मारे गए नरेश भाटी का भांजा है। पिछले पांच वर्षो से वही नरेश गिरोह की कमान संभाले हुए है। नन्दू उर्फ रावण को भी उसी ने गिरोह से जोड़ा था।

दरअसल नरेश भाटी को एक अन्य सरगना सुन्दर भाटी गिरोह ने मार गिराया था। उसका बदला लेने के लिए चार वर्ष पूर्व सुन्दर को पुलिस कस्टडी में जेल से फेज दो कोर्ट लाते वक्त अमित ने अपने साथियों के साथ स्वचालित हथियारों से हमला किया था। मगर सुन्दर हमले में बाल-बाल बच गया था। अमित गत माह अजायबपुर पुलिस चौकी पर तैनात पुलिसकर्मियों पर हमले में भी वांछित चल रहा है। कासना पुलिस ने भी ढाई हजार रुपये के ईनामी शहजाद पुत्र इस्लामुददीन निवासी भोजपुर को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया है। पकड़ा गया बदमाश गौ वध अधिनियम एक्ट में वांछित चल रहा था।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रावण गिरोह का इनामी बदमाश मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार