DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दोपहर से रात तक नोएडा-ग्रेनो में बिजली त्रासदी

अचानक तकनीकी खराबी होने के कारण गुरुवार को पाली बिजलीघर से सप्लाई ठप हो गई। इससे पूरे नोएडा और ग्रेटर नोएडा में अंधेरा छा गया। दोपहर बाद तीन बजे गई लाइट के पहले पांच बजे आने की बात कही गई, लेकिन देर रात ही बिजली के दर्शन हुए। इस दौरान सेक्टर हो या गांव हर जगह अंधेरा छाया रहा। इनवर्टर और बैकअप तक जवाब दे गए। इसका कारण यह भी रहा कि बुधवार रात से ही कई इलाकों में बिजली संकट था, हालांकि विभागीय रिकार्ड में गुरुवार दोपहर बाद तीन बजे संकट शुरू हुआ।

पाली स्थित चार सौ केवी के बिजलीघर से ही नोएडा को करीब छह सौ एमवीए बिजली की सप्लाई होती है। बुधवार से ही बिजलीघर में लगे सेफ्टी एक्युपमेंट पेंटाग्राफ अत्यधिक गर्म हो गए थे। उसमें आग लगने की आशंका थी। बिजलीघर पर लोड घटाने के मकसद से बुधवार से ही सप्लाई कम कर दी गई। आग लगने से ज्यादा नुकसान न हो जाए, इसे देखते हुए गुरुवार तीन बजे से मरम्मत कार्य शुरू किया गया। इसे देखते हुए दो घंटे तक बिजली गुल रहने की घोषणा की गई थी, मगर यह कटौती इससे कहीं ज्यादा दिखी। सेक्टर-12, 22, चौड़ा गांव, सर्फाबाद, सेक्टर-50, 71 व 72 समेत कई गांवों में सेक्टरों में रात से ही बिजली का आना जाना लगा रहा।

लोग फोन पर बिजली अफसरों से बिजली आने को लेकर सवाल पूछते रहे। पाली बिजलीघर से ही नोएडा के ज्यादातर बिजलीघरों के कनेक्ट होने के कारण समूचे नोएडा व ग्रेटर नोएडा की सप्लाई पर बुरा असर पड़ा। नोएडा में रात 10 बजे तक स्थिति सामान्य होने के लक्षण भी दिखे जबकि ग्रेटर नोएडा के दूरदराज के लोग गुरुवार को देर रात तक इससे परेशान रहे।

पावर सप्लाई बाधित होने से शहरी सेक्टरों के अलावा गांव तिलपत्ता, जैतपुर, बिरोंडी, सूरजपुर, कासना, मकोड़ा, कैलाशपुर आदि में स्थिति ज्यादा विकट रही। जेवर, रबूपुरा में भी दोपहर बाद तीन बजे से बत्ती गुल रही जबकि दनकौर में शाम चार बजे से संकट शुरू हुआ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दोपहर से रात तक नोएडा-ग्रेनो में बिजली त्रासदी