DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खंडूड़ी-कोश्यारी ने मिलकर खायी खीर

मौका था पूर्व मुख्यमंत्री बी सी खंडूड़ी के 76 वें जन्मदिवस का। केक भी कटा। फूलों के गुलदस्तों के बीच बधाइयों का दौर देर रात तक जारी रहा। पार्टी के दो विपरीत ध्रुवों ने साथ बैठकर खीर भी खायी। मुस्कान के आदान-प्रदान के बीच चुहलबाजी भी हुई। राजधानी का पर्यटक स्थल गुच्चूपानी खंडूड़ी व कोश्यारी के मिलन का गवाह बना। गुच्चूपानी स्थित मंदिर में दोनों नेताओं को साथ देखकर मीडिया ने सवाल दागे।

जन्मदिन पर एक नई राजनीतिक कहानी गढ़ने की भी कोशिश की। लेकिन एक मंङो राजनीतिज्ञ की तरह दोनों पूर्व मुख्यमंत्रियों ने सवालों को हंसी में उड़ा दिया। उधर, मुख्यमंत्री डा. निशंक ने सुबह ही बड़े भाई जनरल खंडूड़ी को जन्मदिन की बधाई दी।

इधर, पूर्व मुख्यमंत्री खंडूड़ी को बधाइयां देने वालों का सुबह से ही तांता लगा। मौके पर मौजूद आगंतुकों ने जन्मदिन के केक का स्वाद लिया। और उनके दीर्घायु होने की कामना की। पूर्व मुख्यमंत्री कोश्यारी भी खंडूड़ी के आवास पर पहुंचे। लेकिन तब तक खंडूड़ी भाजपा विधायक गणेश जोशी के गुच्चूपानी में आयोजित भंडारे में शामिल होने के लिए निकल गए।

भगत दा कहां चूकने वाले थे। गुच्चू पानी की राह पकड़ी। और जनरल को लगे हाथ जन्मदिन की बधाई दे डाली। दोनों ने मंदिर के प्रांगण में साथ-साथ खीर का स्वाद लिया। और भाजपा विधायक जोशी के पिता की स्मृति में बने टिन शेड का लोकार्पण भी किया।

जनरल के जन्मदिन पर पार्टी कार्यकर्ताओं में गजब का उत्साह देखा गया। पार्टी का अंदरूनी तनाव भी पल भर को काफूर हो गया। मुख्यमंत्री समेत कई मंत्री, विधायक, पूर्व दायित्वधारी व पार्टी कार्यकर्ताओं का भी जनरल के आवास पर जमावड़ा लगा। धर्मपत्नी अरुणा खंडूड़ी के साथ फोटो खिंचवाते हुए जनरल हंसी मजाक करने से नहीं चूके।

नगर निगम पार्षद राजेन्द्र ढिल्लो ने जनरल को 30 पाउंड का केक भेंट किया। पूर्व मुख्यमंत्री ने दो कुष्ठ आश्रमों के रोगियों को दान देकर 76वें जन्मदिन की शुरुआत की। वरिष्ठ नागरिकों के कार्यक्रम में भी शामिल हुए। सांझ ढलते-ढलते डा. निशंक भी फूलों का गुलदस्ता लेकर जनरल खंडूड़ी के आवास पर पहुंचे। बधाइयां कबूल करने का क्रम रात गहराने तक चलता रहा। 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खंडूड़ी-कोश्यारी ने मिलकर खायी खीर