DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कमिश्नर हत्याकांड, कोर्ट ने आरोपितों को जेल भेजा

सेंट्रल एक्साइज कमिश्नर नर्मदेश्वर सिंह हत्याकांड में आठों आरोपितों पर गुरुवार को अदालत ने गैंगेस्टर मामले में न्यायिक रिमांड की मंजूरी दे दी। जेल में निरुद्ध सभी आरोपित गैंगेस्टर कोर्ट के न्यायाधीश गौरव कुमार के समक्ष पेश किए गए।

अदालत ने सभी को न्यायिक अभिरक्षा में लेकर 26 नवम्बर तक के लिए जेल भेज दिया। उधर, जंसा थाना क्षेत्र में आभूषण व्यवसायी जीवनलाल लूट एवं हत्याकांड मामले में चार आरोपितों कमलेश पटेल, राकेश कुमार, आजाद पटेल एवं साहेब लाल को भी गैंगेस्टर कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने सभी आरोपितों पर गैंगेस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई कर न्यायिक रिमांड की मंजूरी दे दी।

ज्ञातव्य है कि 23 अगस्त को सेंट्रल एक्साइज कमिश्नर की करौंदी के रास्ते पर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। एक पखवारे बाद पुलिस ने तीन गुटखा व्यापारियों श्रीकांत चौरसिया, प्रमोद एवं विनोद चौरसिया के अलावा रवि पटेल, अविनाश सिंह, मनीष सिंह, रमेश उर्फ बड़कू, आफताब उर्फ पिंटू को गिरफ्तार कर इस बहुचर्चित हत्याकांड का पर्दाफाश किया था।

हत्याकांड के आरोपित किशन विश्वकर्मा ने बुधवार को अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया। जबकि मनोज सिंह अभी भी फरार है। लंका पुलिस ने पिछले दिनों आरोपितों के विरुद्ध गैंगेस्टर के तहत मुकदमा दर्ज कर कहा था कि सभी आरोपित गिरोह बनाकर संगीन अपराध करते हैं।

आरोपितों के बाहर रहने पर समाज में अशांति व भय का माहौल पैदा होगा। पुलिस के आवेदन पर कोर्ट ने गुरु वार को हत्याकांड से जुड़े सभी आरोपितों को अदालत ने तलब किया था। दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद न्यायाधीश ने घटना को गंभीर मानते हुए गैंगेस्टर एक्ट के तहत न्यायिक रिमांड की मंजूरी दे दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कमिश्नर हत्याकांड, कोर्ट ने आरोपितों को जेल भेजा