DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकारी अस्पतालों में डॉक्टर मरीजों से पैसा वसूल रहे

सरकारी अस्पतालों में कुछ डॉक्टर मरीजों से ऑपरेशन का पैसा वसूल रहे हैं। बहुत से अस्पतालों में मरीजों को अस्पताल से नि:शुल्क दवाएँ तक नहीं मिल रहीं। मजबूरी में मरीज बाजार से दवाएँ खरीदने को मजबूर हैं। ऐसे मामलों को संज्ञान में लेते हुए शासन ने तत्काल जाँच और कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

राम मनोहर लोहिया अस्पताल में रक्तदान शिविर में भाग लेने आए स्वास्थ्य मंत्री अनंत मिश्र और प्रमुख सचिव स्वास्थ्य प्रदीप शुक्ला के सामने गुरुवार को यह मसला उठा। बताया गया कि बलरामपुर समेत कुछ अस्पतालों में कुछ सजर्न मरीजों का ऑपरेशन तभी करते हैं जब उन्हें सुविधा शुल्क मिल जाए। बलरामपुर अस्पताल में तो पिछले कुछ समय में ऐसी कई शिकायतें सामने भी आई हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि ऐसे मामलों में तत्काल जाँच कर सख्त कार्रवाई होगी। उन्होंने आरोपित डॉक्टरों का गैर जनपद स्थानांतरण किए जाने के आदेश दिए। बलरामपुर अस्पताल के ब्लड बैंक में सुविधाओं की कमी का मुद्दा भी उठा। स्वास्थ्य मंत्री ने अधिकारियों को आदेश दिए कि इमरजेंसी के ऊपर बनाए गए कांफ्रेस हाल की जगह नया ब्लड बैंक बनाया जाए।

स्वाइन फ्लू से जुड़े सवाल पर मंत्री ने कहा कि राज्य में स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में रही और इसी वजह से केंद्र ने यूपी की तारीफ करते हुए सबक सीखने की बात कही। मंत्री ने कहा कि राज्य में स्कूल हेल्थ कार्यक्रम और जोर-शोर से चलाया जाएगा। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम हर स्कूल जाकर बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण करेगी।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लिए डॉक्टरों की तैनाती उनके गृह जनपद अथवा मण्डल में किए जाने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि इसके तहत डॉक्टरों से आवेदन पत्र भी माँगे जा चुके हैं। मंत्री ने कहा कि पहले यह आम शिकायतें रहती थीं कि गृह जनपद से दूर तैनात किए जाने की वजह से डॉक्टर ठीक से काम नहीं कर रहे। इसे देखते हुए यह निर्णय लिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकारी अस्पतालों में डॉक्टर मरीजों से पैसा वसूल रहे