DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फ्लेवर के लिए ‘पंच फोरन’

फ्लेवर के लिए ‘पंच फोरन’

पंच फोरन का मतलब है पांच बंगाली मसाले। इन मसालों का मिश्रण बंगाली, असमी और उड़िया व्यंजनों को एक नया फ्लेवर देता है। मैं कलौंजी, राई, जीरा, मेथीदाना और सौंफ बराबर मात्रा में लेकर बोतल में भर कर उपयोग के लिए हमेशा तैयार रखता हूं। एक दिन मेरी लड़की ने सौंफ देख कर सोचा कि मैंने गलती से रसोई में ‘मुखवास’ रख दिया है। अच्छी बात यह हुई कि उसने इसे खाया नहीं। कलौंजी और राई का सबसे अच्छा उपयोग इन्हें पकाने के बाद ही है, जबकि जीरा, सौंफ और मेथी कच्चे भी खाए जा सकते हैं।

इन पांचों के मिश्रण की सबसे खास बात यह है कि गरम तेल में डालने पर जैसे जदू हो जाता है। हम बहुत थोड़ा उपयोग करते हैं, पर इन छोटे बीजों की शक्ति बहुत होती है। मटन की तरह की कोई कठोर खाद्य वस्तु लीजिए और दही, अदरक, लहसुन और आलू को पंच फोरन के साथ मिला कर उसकी ग्रेवी बनाइए। चावल के साथ इसका स्वाद बहुत अच्छा लगता है या फिर मसूर दाल और छोटे प्याज के साथ इस्तेमाल कीजिए। मेरे परिवार में एक और चीज जो सबको अच्छी लगती है, वह है टमाटर की चटनी। अच्छे खजूर और टमाटर की बहुत स्वादिष्ट खट्टी-मीठी चटनी बनती है। नाश्ते के समय अधिकतर कैचअप की जगह चटनी का इस्तेमाल होता है। एक टमाटर के लिए एक खजूर होना चाहिए। हर आठ टमाटर के लिए एक कप चीनी, एक चम्मच तेल, दो सूखी मिर्चियां और एक चम्मच इमली का पल्प। चीनी सिरप के रूप में होनी चाहिए। एक पैन लीजिए और उसमें एक बड़ा चम्मच ‘पंच फोरन’ भूनिए। तेल को गरम कीजिए। अच्छे फ्लेवर के लिए एक टेबल स्पून पंच फोरन और मिलाएं। लाल मिर्ची तोड़ कर डाल दीजिए। मिर्चियों को काली होने से पहले टमाटर डाल दीजिए। पैन में टमाटर का जो पल्प होगा, उसे 10 मिनट तक पकाइए। चीनी का सिरप डाल दीजिए। थोड़ा नमक और खजूर की गुठली निकाल कर काट कर डाल दीजिए। थोड़ा-सा पानी डाल दीजिए।

इसे तब तक पकाएं, जब तक गाढ़ी और गहरे लाल रंग की न हो जाए। अब इसमें इमली का पल्प डाल दाजिए। भुने हुए बीजों को पीस लीजिए और जो चटनी बन गई है, उस पर छिड़क दीजिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फ्लेवर के लिए ‘पंच फोरन’