DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारती-एमटीएन सौदे की विफलता खेल का हिस्सा: प्रणब

भारती-एमटीएन सौदे की विफलता खेल का हिस्सा: प्रणब

वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी ने भारती एयरटेल और दक्षिण अफ्रीकी कंपनी एमटीएन के बीच 23 अरब डॉलर के विलय सौदे को लेकर जारी बातचीत विफल रहने को खेल का हिस्सा बताया।

मुखर्जी ने कहा कि आप बड़ी कंपनियों के बारे में जानते हैं, ये सौदे सफल होते हैं, कभी कभी ये सौदे विफल होते हैं। यह खेल का हिस्सा है। अगर उक्त दोनों कंपनियों के बीच सौदा हो गया होता तो दूरसंचार क्षेत्र में यह विश्व का सबसे बड़ा सौदा होता।

प्रस्तावित विलय ढांचे को दक्षिण अफ्रीकी सरकार द्वारा खारिज किए जाने का हवाला देते हुए सुनील मित्तल की अगुवाई वाली भारती ने बुधवार को बातचीत खत्म करने की घोषणा की।

दक्षिण अफ्रीकी सरकार एमटीएन के शेयरों की दोनों देशों में सूचीबद्धता चाहती थी जिसका भारतीय कानून इजाजत नहीं देते। यह पूछे जाने पर कि इस सौदे की विफलता की वह कानूनी मुद्दों से कहीं ज्यादा राजनीतिक तो नहीं है, मुखर्जी ने कहा कि मैं इस पर कोई टिप्पणी नहीं कर रहा हूं। मैंने आपको तथ्य बता दिया है।

उधर योजना आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह आहलूवालिया ने गुरुवार को कहा कि वह भारती-एमटीएन विलय सौदे की विफलता को लेकर निराश नहीं हैं क्योंकि ऐसे निर्णय कंपनियों पर छोड़े जाने चाहिए।

यह पूछे जाने पर कि क्या वह 23 अरब डॉलर के इस प्रस्तावित सौदे की विफलता को लेकर निराश हैं, उन्होंने कहा, मैं ऐसा नहीं सोचता हूं। सौदे के लिए बातचीत खत्म होने के बाद गुरुवार को कारोबार के दौरान बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में भारती के शेयर 11 प्रतिशत तक चढ़ गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारती-एमटीएन सौदे की विफलता खेल का हिस्सा: प्रणब