DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पर्यटन स्थलों पर विदेशियों से पांच लाख शुल्क

उत्तराखण्ड सरकार ने राज्य में चुनिंदा पर्यटन स्थलों पर विदेशियों के घूमने के लिए पांच लाख रूपये तक का शुल्क वसूल करने की महत्वाकांक्षी योजना बनाने पर विचार कर रही है।

राज्य के मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने बताया कि चोपता, कौसानी, हर्षिल,  लैन्सडाउन,  बेरीनाग,  चौकोरी सहित कुछ अन्य स्थलों को आने वाले दिनों में इस तरह से विकसित किया जाएगा जहां विदेशियों को आने के लिए पांच लाख रूपये तक का शुल्क देना होगा।

उन्होंने कहा कि देश के लोगों से 21 हजार रूपए से 51 हजार रूपए तक का शुल्क लिया जायेगा जबकि उत्तराखण्ड के लोगों को साल में कुछ दिन के लिए मुफ्त में भ्रमण कराया जायेगा।

निशंक ने कहा कि इस योजना से जहां बेहतरीन पर्यटन स्थलों पर लोगों की भीड़ कम होगी वहीं राज्य को अधिक से अधिक राजस्व की प्राप्ति भी होगी।

मुख्यमंत्री ने दावा किया कि राज्य में कुछ ऐसे स्थान हैं जिनका दुनिया में कोई मुकाबला नहीं है। राज्य के पर्यटन स्थलों की तुलना में स्विटजरलैंड के पर्यटन स्थल भी फीके हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पर्यटन स्थलों पर विदेशियों से पांच लाख शुल्क