DA Image
30 सितम्बर, 2020|11:02|IST

अगली स्टोरी

धोनी ने कहा, टीम को हरफनमौला की जरूरत

धोनी ने कहा, टीम को हरफनमौला की जरूरत

चैंपियंस ट्रॉफी से बाहर होने के बाद भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि टीम में बेहतर संतुलन बनाने के लिए फिलहाल हरफनमौला-गेंदबाजों की सख्त जरूरत है।

उन्होंने कहा कि मैं हमेशा कहता हूं कि अगर टीम 15-20 प्रतिशत सुधार कर सकी तो गेंदबाजी और फील्डिंग बेहतर हो जाएगा। यही बात रन आउट पर भी लागू होती है। अगर फील्डिंग बेहतर होती है तो विकेटों के बीच दौड़ भी सुधर जाती है।

धोनी ने इंग्लैंड में जून में मिली टी-20 वर्ल्ड कप में टीम की फजीहत को चैंपियंस ट्रॉफी के प्रदर्शन से बदतर बताया। धोनी के मुताबिक यह कहना मुश्किल है कि कौन सी हार बदतर है लेकिन यहां हम एक मैच जीते, एक हारे और एक रद्द हो गया। इंग्लैंड में और बुरी हार थी क्योंकि हमारे पास काफी मैच थे, लेकिन हम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके।

भारतीय कप्तान ने कहा कि टीम इंडिया पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच सेंचुरियन में हुए मैच पर नजरें गड़ाए थी। हम चाहते थे कि पाकिस्तान जीते ताकि हम सेमीफाइनल में पहुंच सके। मैच रोमांचक था। हम ब्रेक में टीवी पर इसे देख रहे थे। हमारे लिए यह मैच अहम था।

धोनी ने वेस्टइंडीज के खिलाफ खुद गेंदबाजी करते हुए 17वें ओवर में एक विकेट भी लिया। उन्होंने इस बारे में कहा कि मुझे लगा कि अगर कैरेबियाई पारी 50वें ओवर तक चली तो हमें तीन-चार ओवरों के लिये कामचलाऊ गेंदबाजों की जरूरत होगी। मुझे लगा कि यही बेहतर होगा कि मैं तीन-चार ओवर गेंदबाजी करूं।

वहीं आखिरी मैच में मैन ऑफ द मैच रहे विराट कोहली ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में ईमर्जिंग प्लेयर्स टूर्नामेंट खेलने का उन्हें काफी फायदा मिला। कोहली के टीम में भविष्य के बारे में पूछने पर धोनी ने कहा कि उसे टीम में अपनी जगह खुद बनानी होगी। टीम इंडिया में जगह बना पाना आसान नहीं है। एक युवा खिलाड़ी को लगातार अच्छा खेलकर अपनी जगह बनानी होगी। अगर वह ऐसा कर पाता है तो हमें दोबारा सोचने की कोई जरूरत ही नहीं है।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:धोनी ने कहा, टीम को हरफनमौला की जरूरत