DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेत्रहीनों के लिए पहली बार ब्रेल लिपि आधारित ई वी एम

जम्मू-कश्मीर में नेत्रहीनों को मतदान में मदद करने के लिए पहली बार ब्रेल लिपि आधारित इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों ई वी एम का इस्तेमाल किया जाएगा। राय के मुख्य चुनाव अधिकारी बी आर शर्मा ने आज बताया कि मुंबई के देवनार नेत्रहीन स्कूल को प्रत्याशियों के नामों वाली ब्रेल सूची तैयार करने को कहा गया है और बाद में इसे ई वी एम में लोड कर दिया जाएगा ताकि बिना किसी मदद के नेत्रहीन मतदाता अपना वोट डाल सकें। उन्होंने बताया कि इन मशीनों के चरण का पहला काम शुरु हो गया है और इसे जल्दी ही पूरा कर लिया जाएगा। इसके अलावा चुनाव पूर्व सभी तैयारियां कर ली गई है और 1.32 लाख नए मतदाता इस बार लोकसभा चुनावें में वोट डालेंगे। इनमें महिला मतदाताआें की संख्या 7हजार से यादा है। चुनाव आयोग पूरे राय में सुरक्षा के लिहाज से संवेदनशील क्षेत्रों की पहचान कर रहा है ताकि निष्पक्ष एवं स्वतंत्र चुनाव हो सके।ड्ढr उन्होंने बताया, हम सभी आवश्यक कदम उठाएंगे ताकि मतदाता बैखौफ होकर वोट डालने घरों से बाहर आ सकें और सुरक्षा व्यवस्था विधानसभा चुनावों जैसी ही कड़ी की जाएगी। शर्मा ने बताया कि नामाकंन पत्र भरने से लेकर मतगणना समाप्त होने की प्रक्रिया पर नजर रखने के लिए केन्द्र सरकार के अधिकारियों को चुनावी पर्यवेक्षक के तौर पर तैनात किया जाएगा। इनके अलावा विभिन्न विभागों से 40 हजार सरकारी कर्मचारियों को चुनावी डूटी में लगाया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नेत्रहीनों के लिए पहली बार ब्रेल लिपि आधारित ई वी एम