DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

क्षेत्रीय जनता का निर्णय मंजूर: अजय राय

पिण्डरा के नेशनल इंटर कालेज में 4 अक्टूबर को होने वाली महापंचायत कोलअसला उपचुनाव में धमाका कर सकती है। तीन बार के विधायक और पूर्व मंत्री अजय राय के समर्थकों ने यह आयोजन किया है। यह कोई अचानक निर्णय नहीं बल्कि एक सप्ताह पूर्व ही इसकी रूपरेखा तैयार हो गई थी। पिछले रविवार को क्षेत्र से बड़ी संख्या में आये समर्थकों ने लहुराबीर में बैठक कर महापंचायत का निर्णय लिया था। फिलहाल सभी राजनीतिक दल इसके निहतार्थ निकालने में जुटे हैं। श्री राय ने कहा कि क्षेत्रीय जनता ने तीन बार मुङो चुना है। उनका जो भी निर्णय होगा वह मंजूर है। फिलहाल जनता के बुलावे पर मैं जा रहा हूं और क्षेत्र को गलत हाथों में न जाने के लिए जो संकल्प लिया था उस पर आज भी कायम हूं।


उपचुनाव की अभी घोषणा नहीं हुई है लेकिन सभी प्रमुख राष्ट्रीय और क्षेत्रीय दलों के प्रत्याशी घोषित हो चुके हैं। बसपा और सपा तो राजनैतिक रैलियां कर चुके हैं। इस क्षेत्र से देवमूर्ति शर्मा पहली बार विधानसभा के लिए चुने गए थे। कम्युनिस्ट पार्टी के दिग्गज नेता उदल ने नौ बार जीत हासिल कर इसिहास रचा था। इनके अलावा अमरनाथ शर्मा और रामकरण पटेल भी एक-एक बार विधानसभा में कोलअसला का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। पिछले 13 सालों से इस क्षेत्र पर लगातार अजय राय का कब्जा रहा है। लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए भाजपा से इस्तीफा देकर सपा प्रत्याशी के रूप में मैदान में उतरे अजय राय ने पहले तो चुनाव लड़ने से इंकार किया लेकिन समर्थकों का दबाव लगातार उन पर बढ़ता जा रहा है। पिछले रविवार को सैकड़ों की संख्या में क्षेत्रीय लोग अजय राय के यहां पहुंचे तो बैठक कर महापंचायत बुलाने का निर्णय लिया गया। ‘हिन्दुस्तान’ से बातचीत में श्री राय ने चुनाव लड़ने पर सीधे कुछ नहीं कहा लेकिन यह जरूर स्वीकार किया कि जनता का निर्णय उन्हें मंजूर होगा। उदलजी के जमाने से क्षेत्र सुरक्षित हाथों में रहा है और अब वह नहीं चाहते कि कोई खराब छवि वाला इसका प्रतिनिधित्व करे। वैसे भी कोलअसला का कर्ज वह जीवन भर नहीं चुका सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:क्षेत्रीय जनता का निर्णय मंजूर: अजय राय