DA Image
10 जुलाई, 2020|11:09|IST

अगली स्टोरी

नए पाक सेना प्रमुख के लिए लॉबिंग में जुटे मुशर्रफ

नए पाक सेना प्रमुख के लिए लॉबिंग में जुटे मुशर्रफ

पाकिस्तान के पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ अपने पसंदीदा जनरल को नया सेना प्रमुख बनवाने के लिए लॉबिंग कर रहे हैं और उन्होंने इसके लिए राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी के साथ एक गोपनीय मुलाकात भी की है।

`द न्यूज' दैनिक की मंगलवार को प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है कि मुशर्रफ ने पाकिस्तान में अपनी राजनीतिक वापसी की उम्मीदों को छोड़ा नहीं है और चाहते हैं कि उनके पसंदीदा जनरल उनकी इन आकांक्षाओं को पूरा करने में उनकी मदद करें।

रिपोर्ट में कहा गया है कि जनरल अशफाक परवेज कियानी का उत्तराधिकारी मुशर्रफ के विश्वसनीय और निष्ठावान जररल हैं और वह मुशर्रफ के खिलाफ मुकदमा चलाए जाने की बढ़ती मांग की हवा निकालने के लिए हालात को तोड़मरोड़ सकते हैं। इतना ही नहीं वह पूर्व तानाशाह की देश की सत्ता की राजनीति में पुन: वापसी में मदद भी मददगार साबित हो सकते हैं।

हालांकि दैनिक ने यह नहीं लिखा है कि मौजूदा जनरल कियानी का कार्यकाल कब समाप्त होगा। वर्दी उतारने का दबाव बढ़ने के बाद मुशर्रफ ने कियानी को अपने उत्तराधिकारी के रूप में चुना था। दैनिक ने यह भी लिखा है कि जरदारी और मुशर्रफ के बीच मुलाकात न्यूयार्क के बाहर किसी स्थान पर हुई । जरदारी पिछले दिनों संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में भाग ले कर अमेरिका से लौटे हैं।

दैनिक ने यह भी लिखा है कि न्यूयार्क में अपने सरकारी कार्यक्रम की समाप्ति के बाद भी जरदारी दो दिन निजी प्रवास पर वहां रहे और इसी दौरान उनकी हाल ही में मुशर्रफ से मुलाकात हुई। दैनिक ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि जरदारी को न्यूयार्क के बार्कले इंटरकोंटिनेंटल होटल से निकालकर एक छोटे विमान से पड़ोसी राज्य में ले जाया गया जो अपनी प्राकतिक खूबसूरती और शांत ग्रामीण जीवन के लिए जाना जाता है। जरदारी ने इसी पड़ोसी प्रांत में मुशर्रफ से मुलाकात की।

दोनों नेताओं के बीच बातचीत में मुशर्रफ ने उस आदमी के नाम का जिक्र किया जिसे वह सेना प्रमुख जनरल कियानी के उत्तराधिकारी के रूप में देखना चाहते हैं। रिपोर्ट में यह जानकारी दी गयी है । रिपोर्ट में कहा गया है कि जरदारी और मुशर्रफ के अमेरिकी आकाओं ने उनकी गोपनीय मुलाकात का इंतजाम कराया। लेकिन `दी न्यूज' ने जरदारी के करीबी सूत्रों के हवाले से मुशर्रफ के साथ हुई गोपनीय मुलाकात संबंधी रिपोर्ट को खारिज किए जाने की भी बात कही है। इन सूत्रों ने बताया कि जरदारी की मुशर्रफ से मिलने में कोई रुचि नहीं थी।

सूत्रों ने कहा कि जरदारी के विरोधी उन्हें बदनाम करने के लिए इस प्रकार की अफवाहें उड़ा रहे हैं। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि न्यूयार्क में अपने अंतिम दो दिन के प्रवास के दौरान जरदारी ने सीआईए और पेंटागन अधिकारियों से भी मुलाकात की।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:नए पाक सेना प्रमुख के लिए लॉबिंग में जुटे मुशर्रफ