अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

1168 कर्मियों के भविष्य का सवाल

मात्र 11 करोड़ रुपये के खर्च पर 1168 कर्मियों के साथ राज्य पथ परिवहन निगम अपने पैर पर खड़ा हो सकता है। बिहार से बंटवारा के बाद निगम के समक्ष बंद होने की स्थिति आ गयी है। इस अवस्था में पूर्ण भुगतान पाने के बाद 1168 स्थायी कर्मचारी और 500 अस्थायी कर्मचारी सीधे बेरोजगार होंगे। अप्रत्यक्ष रूप से भी 25 हजार से अधिक लोगों के समक्ष रोजी-रोटी की समस्या उत्पन्न हो जायेगी। छह हजार एकड़ जमीन जिसकी कीमत चार अरब 20 करोड़ रुपये के लगभग है, लावारिस स्थिति में आ जायेगी। बिहार से मिले 220 कर्मचारी परिवहन मुख्यालय में योगदान तो दे चुके हैं, लेकिन इनका योगदान किस निगम के तहत किया जाये, यह तय नहीं हो पाया है। लिहाजा, ये अब सड़क पर हैं। बंटवार के बाद नीलामी योग्य 500 बसें झारखंड को मिल रही हैं, जिनसे नीलामी के बाद सिर्फ दो करोड़ रुपये ही मिलेंगे। यदि इनकी नीलामी समय पर हो जाती, तो 10 करोड़ मिलते। राज्य में फिलहाल 155 बसें हैं, जिनमें 70 चालू हालत में हैं और 85 मामूली मरम्मत के बाद सड़क पर आ सकती हैं।ड्ढr निगम को पूर्ण रूप से चलाने के लिए 0 और बसें चाहिए, जिनकी कीमत 11 करोड़ ही पड़ेगी। परिवहन निगम में एक बस पर पांच कर्मचारी काम करते हैं। वर्तमान में 155 बसें हैं। 0 बसें और आ जायेंगी तो इनकी संख्या 240 हो जायेंगी।ड्ढr कई बसें बंद हो जायेंगीड्ढr रांची। राज्य के अंदर कई क्षेत्रों में निजी बसें नहीं चलती हैं। राज्य परिवहन निगम की बसें चल रही हैं। निजी बसों के चलने के बावजूद रांची-टाटा, रांची-पटना, रांची-गया, रांची-डालटनगंज, जमशेदपुर-चाईबासा, धनबाद और संथालपरगना क्षेत्र में सरकारी बसें चल रही हैं।ड्ढr सरकारी बस में जमशेदपुर का किराया 70 रुपया है, जबकि निजी बस वाले 0 रुपया वसूल रहे हैं। यही नहीं कई स्थानों पर निजी बसों का किराया अधिक है।ड्ढr पथ परिवहन निगम को लेकर बैठक आजड्ढr रांची। बिहार राज्य पथ परिवहन निगम के बंटवारा के बाद राज्य में परिवहन निगम का गठन नहीं करने का लगभग फैसला लिया जा चुका है। मुख्य सचिव एके बसु के साथ कार्मिक सचिव और परिवहन सचिव की 1मार्च को बंटवार पर महत्वपूर्ण बैठक होगी। इसमें कर्मचारियों के समायोजन और आवश्यक सेवानिवृत्ति, कंडम और अच्छी बसों और चल और अचल संपत्ति के भविष्य के बार में निर्णय लिया जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 1168 कर्मियों के भविष्य का सवाल