DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जीत से ही बनेगा कीवियों का काम

जीत से ही बनेगा कीवियों का काम

चैंपियंस ट्राफी के ग्रुप बी के आखिरी लीग मुकाबले में मंगलवार को जब न्यूजीलैंड इंग्लैंड की टीम से भिड़ेगा तो उसकी नजर मुकाबले में जीत हासिल कर सेमीफाइनल में पहुंचने पर होगी।

इस मैच से तीन टीमों के भाग्य का फैसला होगा। न्यूजीलैंड ने प्रतियोगिता में एक जीत हासिल की है और यदि वह इस मुकाबले में भी कामयाब हो जाती है तो वह अंतिम चार का सफर तय कर लेगी, लेकिन यदि न्यूजीलैंड हार जाता है तो नेट रन रेट के आधार पर इस बात का फैसला होगा कि श्रीलंका, दक्षिण अफ्रीका और कीवी टीम में कौन अंतिम चार में प्रवेश करेगा।

न्यूजीलैंड के खिलाड़ी मुकाबले की अहमियत को भली भांति समझ रहे होंगे और मुकाबले के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने को बेकरार होंगे। न्यूजीलैंड के लिए सबसे बड़ी चुनौती बल्लेबाजी में श्रीलंका के खिलाफ किए गए अपने बेहतरीन प्रदर्शन को दोहराने की होगी क्योंकि हाल के दिनों में लचर बल्लेबाजी ने ही काम खराब किया है।

जैकब ओरम के बाद जेसी राइडर के भी चोटिल होकर प्रतियोगिता से बाहर हो जाने पर टीम के कप्तान डेनियल विटोरी अपनी चिंता जता चुके हैं। ऐसे में टीम की बल्लेबाजी एक बार फिर पूरी तरह रोस टेलर, मार्टिन गुप्टिल और ब्रैंडन मैक्कुलम पर निर्भर करेगी। इसके अलावा निचले क्रम में विटोरी, जेम्स फ्रेंकलिन और काइल मिल्स टीम की नैय्या पार लगाने का काम करेंगे।

गेंदबाजी में शेन बांड की असफलता ने विटोरी की परेशानियां अवश्य बढ़ाई होंगी। कीवी कप्तान को खुद भी पता होगा कि जीत के रथ पर सवार इंग्लैंड को हराना कितना कठिन होगा। वैसे, टीम के बाकी गेंदबाज बढ़िया प्रदर्शन कर रहे हैं।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी के बाद डेरेल टफी लय में दिख रहे हैं और श्रीलंका के खिलाफ मुकाबले में उन्होंने इसका बेहतरीन नमूना भी पेश किया था। इसके अलावा मिल्स और विटोरी भी अपने प्रदर्शन से टीम के लिए उपयोगी साबित हो रहे हैं।

दूसरी तरफ, इंग्लिश टीम के लिए यह मुकाबला सेमीफाइनल का पूर्वाभ्यास जैसा होगा। इंग्लिश टीम के बल्लेबाज और गेंदबाज दोनों इस समय पूरी तरह लय में दिख रहे हैं। बल्लेबाजों में इयान मोर्गन, पॉल कोलिंगवुड और ओवैश शाह ने प्रतियोगिता में खेले गए दोनो मैचों में जांबाजों जैसा प्रदर्शन कर टीम को ग्रुप में शीर्ष पर पहुंचा दिया है तो गेंदबाजी में स्टुअर्ट ब्राड, जेम्स एंडरसन और ग्रीम स्वान ने भी विपक्षियों के नाक में दम कर रखा है।

ब्राड और एंडरसन ने अब तक खेले गए मैचों में कुल छह-छह विकेट लिए हैं। इंग्लिश टीम को अपने क्षेत्ररक्षण में सुधार करने की खासा जरूरत है क्योंकि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच में खिलाड़ियों ने जिस तरह से कैच छोड़े उससे तो टीम को आगे परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जीत से ही बनेगा कीवियों का काम