DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जीत से ही बनेगी दक्षिण अफ्रीका की बात

जीत से ही बनेगी दक्षिण अफ्रीका की बात

चैंपियंस ट्राफी के प्रबल दावेदारों में से एक दक्षिण अफ्रीकी टीम रविवार को सेंचुनियन में होने वाले अपने आखिरी लीग मैच में इंग्लैंड को हराकर टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंचने की अपनी आशाओं को जिंदा रखने के लिए मैदान पर उतरेगी वहीं दूसरी ओर इंग्लैंड की टीम भी चाहेगी कि मुकाबले में जीत हासिल कर सेमीफाइनल में जगह पक्की कर ली जाए।

दक्षिण अफ्रीका ने प्रतियोगिता में अब तक दो मैच खेले हैं जिसमें टीम को एक में जीत मिली है और एक में हार का सामना करना पडा है। सेमीफाइनल की राह तय करने के लिए मेजबान टीम को यह मुकाबला हर हाल में जीतना ही होगा। दूसरी तरफ इंग्लिश टीम भी चाहेगी कि दक्षिण अफ्रीका को हराकर अंतिम चार का सफर तय कर लिया जाए।

दक्षिण अफ्रीका की टीम ने जिस तरह दूसरे मैच में न्यूजीलैंड को हराया है उससे तो इंग्लिश टीम के खिलाफ अफ्रीकी टीम का पलड़ा भारी नजर आ रहा है। कप्तान ग्रीम स्मिथ, एबी डिविलियर्स और जैक कालिस ने बल्ले से बढ़िया प्रदर्शन किया है। हालांकि जेपी डुमिनी की असफलता ने निचले क्रम के बल्लेबाजों पर दबाव बढा़ दिया है। विकेटकीपर बल्लेबाज मार्क बाउचर भी अब तक खेले गए दोनों मैचों मे अपनी छाप छोडने में असफल रहें हैं।

गेंदबाजी को लेकर भी मेजबानों को चिंता करने की जरूरत नहीं है। टीम के दोनों मुख्य गेंदबाज डेल स्टेन और वायने पार्नेल ने दोनों ही मैचों में बढिया प्रदर्शन किया है। डेल ने अब तक पांच और पार्नेल ने आठ विकेट लिए है। दूसरी तरफ शीर्ष क्रम की असफलता इंग्लैंड टीम के लिए अब भी चिंता का विषय बनी हुई है। कप्तान एंड्रयू स्ट्रास और जो डेनली की सलामी जोडी नेट वेस्ट सीरीज के बाद चैम्पियंस ट्राफी में भी लगातार असफल हो रही है और मध्यक्रम में पाल कोलिंगवुड को छोड़कर कोई ऐसा नाम नहीं है जिस पर भरोसा किया जा सके।

हालांकि टीम के नए सितारे इयान मोर्गन ने अपनी बल्लेबाजी से टीम के लिए कुछ आशाएं जगाई है। मोर्गन ने शुक्रवार को श्रीलंका के खिलाफ अविजित 62 रनों की मैच जिताउ पारी खेलने के अलावा आस्ट्रेलिया के खिलाफ नेटवेस्ट सीरीज में भी बढिया बल्लेबाजी की थी।

गेंदबाजी के मोर्चे पर जेम्स एंडरसन, ग्राहम ओनियंस और स्टुअर्ट ब्राड की तिकड़ी विपक्षी टीम के लिए परेशानी खडी कर सकती है। स्पिन के मोर्चे पर ग्रीम स्वान भी यहां की पिच पर विपक्षी बल्लेबाजों को नाकों चने चबवा सकते हैं।

इसके अतिरिक्त इंग्लिश टीम की सबसे बडी़ मजबूती उसकी निचले क्रम की बल्लेबाजी है। ल्यूक राइट, ग्रीम स्वान और स्टुअर्ट ब्राड ने कई मौकों पर टीम के लिए निचले क्रम में बढिया बल्लेबाजी कर टीम को मैच जिताया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जीत से ही बनेगी दक्षिण अफ्रीका की बात