DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुकर पुरस्कार के दावेदारों की सूची में महाश्वेता

ाानी मानी बांग्ला लेखिका महाश्वेता देवी और भारतीय मूल के अंग्रेजी उपन्यासकार वीएस नायपॉल को वर्ष 200े मैन बुकर पुरस्कार के दावेदारों की सूची में शामिल किया गया है। हर दो साल में दिए जाने वाले मैन बुकर इंटरनेशनल अवार्ड के विजेता को 60, 000 पाउंड (44 लाख रुपए) की धनराशि दी जाती है। महाश्वेता के प्रशंसक कहते रहे हैं कि वह नोबेल पुरस्कार की सबसे मजबूत दावेदार बनेंगी। लेकिन चूंकि उनकी किताबों का अनुवाद व्यापक स्तर पर उपलब्ध नहीं है, इसलिए लोग उनके बार में अपेक्षाकृत कम जान पाए। हालांकि उन्हें मैगसेसे और ज्ञानपीठ जसे प्रतिष्ठित पुरस्कार मिल चुके हैं। अब महाश्वेता को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिल रही है। 83 वर्षीया लेखिका महाश्वेता की मशहूर किताबों में ’हाार चौरासी की मां’ और ‘अरण्यनेर अधिकार’ शामिल हैं। उन्हें आम आदमी व आदिवासियों से जुड़ी विडंबनाओं और समस्याओं के मार्मिक चित्रण के लिए जाना जाता है। गौरतलब है कि बुकर पुरस्कार दुनिया के किसी भी लेखक को मिल सकता है, अगर उसकी किताब अंग्रेजी भाषा में उपलब्ध हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बुकर पुरस्कार के दावेदारों की सूची में महाश्वेता