DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीसरा दिन सचिन-जहीर के नाम, भारत मजबूत

पहले टेस्ट मैच के तीसरे दिन शुक्रवार को सडन पार्क मास्टर ब्लास्टर सचिन तंदुलकर की एक महान पारी का साक्षी बना। तंदुलकर क शानदार शतक की बदौलत ही भारतीय टीम को पहली पारी में 241 रनों की बढ़त मिली। मेजबान टीम के पहली पारी में 27रन के जवाब में भारत ने अपनी पहली पारी में 520 रन बनाए। तीसर दिन का खेल खत्म होन तक कीवी टीम न दूसरी पारी में तीन विकट पर 75 रन बना लिए। पारी की हार से बचने के लिए अभी उसे 166 रनों की जरूरत है जबकि उसके सात विकेट बचे हुए हैं। मैच में अभी दो दिन बाकी हैं। मैच का तीसरा दिन पूरी तरह क्रिकेट के भगवान सचिन के नाम रहा। मानो सचिन एक और शतक जड़न की ठान कर आए थे। एसा हुआ भी। सचिन न मैदान क चारों आर आकर्षक शॉट खेलत हुए 260 गंदों पर 160 रनों की यादगार पारी खेली। भारतीय टीम के मास्टर बल्लेबाज की यह पारी कई मायनों में अहम रही। उन्होंने गंद को 26 बार सीमा रखा क पार पहुंचाया। यह कीवी सरामीं पर उनका दूसरा और उनक करियर का 42वां शतक है। इसस पहल 1में वलिंगटन में 113 रनों की पारी खेली थी। खास बात यह भी है कि सचिन क टस्ट करियर मं यह 18वां एसा शतक था जिसमं उन्होंने व्यक्ितगत स्कोर को 150 रनों क पार पहुंचाया। दूसरी पारी में न्यूजीलैंड की शुरुआत अच्छी नहीं रही। टीम का खाता खुलने से पहले ही टिम मैकंटोश के रूप में उसे पहला झटका लगा। जहीर ने पहले ओवर की तीसरी गेंद पर उन्हें सचिन के हाथों कैच करवा दिया। हालांकि टीवी रिप्ले के मुताबिक सचिन के हाथों में आने से पहले गेंद जमीन छू चुकी थी। कैच लपकने के प्रयास में सचिन के हाथ में चोट लग गयी और उन्हें इलाज के लिए तुरंत मैदान से बाहर ले जाया गया। अपना पहला टेस्ट खेल रहे ओपनर मार्टिन गुप्टिल (48) और डेनियल फ्लिन (24) ने दूसरे विकेट के लिए 68 रन बनाए। गुप्टिल हरभजन की गेंद पर सहवाग के हाथों लपके गए। कीवी टीम की मुश्किलें तब और बढ़ गयीं जब नाइट वाचमैन काइल मिल्स भी दो रन बनाकर चलते बने। उन्हें मुनाफ ने दिन की अंतिम गेंद पर एलबीडब्ल्यू किया। फ्लिन 24 रन बनाकर खेल रहे हैं और शनिवार को रॉस टेलर उनका साथ देने मैदान पर उतरेंगे। चौथे दिन हार को टालने की जिम्मेदारी अब विशेषज्ञ बल्लेबाजों फ्लिन टेलर और जेसी राइडर पर है। इससे पहले भारत ने कल के स्कोर चार विकेट पर 278 रन से आगे खेलना शुरू किया। सचिन और युवराज ने पांचवें विकेट के लिए 76 रन जोड़े। इस दौरान सचिन ने 168 गेंदों में 15 चौकों की मदद से 42वां टेस्ट शतक पूरा किया। लंच से पहले युवराज (22) मार्टिन की गेंद पर बोल्ड हो गए। इसके बाद सचिन ने कप्तान धोनी (47) के साथ मिलकर स्कोर आगे बढ़ाया। दोनों ने छठे विकेट के लिए 115 रन जोड़े। धोनी दुर्भाग्यशाली रहे और महज तीन रन से अर्धशतक बनाने से चूक गए। ओब्रायन की एक बाउंसर उनके बल्ले को छूती हुई विकेटकीपर मैकुलम के दस्तानों में समा गयी। हालांकि इसी ओवर में पहले उन्हें एक जीवनदान भी मिला जब गली में खड़े राइडर ने डाइव करते हुए शानदार कैच लपका। लेकिन टीवी रिप्ले से पता चला कि उनके लपकने से पहले गेंद जमीन छू चुकी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तीसरा दिन सचिन-जहीर के नाम, भारत मजबूत