दिनाकरण ने ताल ठोकी कहा, आरोप सिद्ध करो - दिनाकरण ने ताल ठोकी कहा, आरोप सिद्ध करो DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिनाकरण ने ताल ठोकी कहा, आरोप सिद्ध करो

दिनाकरण ने ताल ठोकी कहा, आरोप सिद्ध करो

भ्रष्टाचार के कथित आरोपों में घिरे कर्नाटक हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस पीडी दिनाकरण ने कहा है कि उन्हें चीफ जस्टिस के.जी. बालाकृष्णन ने तलब नहीं किया था। वह स्वयं ही मुख्य न्यायाधीश से मिले थे यह मुलाकात उनके साथ 18-27 सितंबर के आस्ट्रेलिया दौरे के संबंध में थी। लेकिन अब उन्होंने मुख्य न्यायाधीश से आग्रह किया है कि इस दौरे से उन्हें अलग किया जाए। 

स्वयं पर आरोपों पर उन्होंने कहा, यदि आरोप लगाने वालों में हिम्मत है तो इन्हें सिद्ध करके दिखाएं। आरोप सही हुए तो वह परिणाम भुगतने को तैयार हैं लेकिन मैं सवाल पूछना चाहता हूं कि यदि ये गलत साबित हुए तो क्या आरोप लगाने वाले कुछ नजीते भुगतेंगे?

यह बात जस्टिस दिनाकरण ने बेंगलुरु से ‘हिन्दुस्तान’ से बातचीत में कही। कालेजियम द्वारा उन्हें सुप्रीम कोर्ट में प्रोन्नत करने की सिफारिश के विरुद्ध लिखे गए न्यायाविदों के पत्र के बाद पहली बार जस्टिस दिनाकरण ने अपना पक्ष रखा है। यह पत्र राम जेठमलानी, शांतिभूषण, अनिल दीवान तथा फाली एस नारीमन ने लिखा था।

उन्होंने आरोप लगाया था कि जस्टिस दिनाकरण ने कर्नाटक में 700 एकड़ भूमि खरीदी है और उनके नाम से वहां एक रोड भी है। पत्र में उन पर एक घंटे में 500 लोगों को जमानत देने का आरोप भी है। मुख्य न्यायाधीश से हुई मुलाकात में उन्होंने और क्या कहा, इस पर दिनकरण बोले, ‘मैने उन्हें बताया कि किस तरह 25 दिनों मे उन्होंने 2,25,000 (दो लाख पच्चीस हजार) केसों को निपटारा किया।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिनाकरण ने ताल ठोकी कहा, आरोप सिद्ध करो