अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वरुण को कोर्ट से राहत, आयोग को भेजा जवाब

पीलीभीत से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रत्याशी वरुण गांधी की गिरफ्तारी पर शुक्रवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है। वरुण गांधी पर पीलीभीत में एक चुनावी सभा में धर्म विशेष के विरुद्ध भड़काऊ भाषण देने का आरोप है। दिल्ली हाईकोर्ट ने वरुण गांधी को इस मामले में 50,000 के निजी मुचलके पर जमानत दे दी है। मामले की अगली सुनवाई 27 मार्च को होगी। चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर भाजपाके पीलीभीत लोकसभा क्षेत्र से प्रत्याशी वरुण गांधी ने शुक्रवार को नई दिल्ली में अपना जवाब चुनाव आयोग को सौंप दिया। वरुण गांधी ने अपना जवाब अपने एक वकील और निजी सहायक के माध्यम से शुक्रवार सुबह निर्धारित 11 बजे से पहले ही आकर आयोग को सौंप दिया। वरुण के वकील ने बाद में संवाददाताआें से कहा कि उन्होंने वरुण की आेर से जवाब आयोग को सौंप दिया है लेकिन उन्होंने जवाब का विस्तृत विवरण देने से इन्कार कर दिया। वरुण गांधी की आेर से आयोग को सौंपे गए जवाब का आधिकारिक विवरण नहीं मिल पाया है लेकिन यह बताया जा रहा है कि वरुण गांधी ने आयोग से कहा कि पीलीभीत संसदीय क्षेत्र में कस्बा बारखेड़ा में सात और आठ मार्च 200ो दिए गए भाषण की जो सीडी है उससे छेड़छाड़ हुई है और उनके खिलाफ एक राजनीतिक साजिश की गई है। भाजपा ने भी अपनी आेर से चुनाव आयोग को अपना जवाब फैक्स के जरिए भेज दिया है जिसमें वरुण द्वारा दिए गए भाषण को पार्टी अस्वीकार करती है तथा इससे अपने को अलग करती है। पार्टी ने आयोग को यह भी आश्वासन दिया है कि वह चुनाव आयोग की आदर्श आचार संहिता का पूरी तरह से पालन करेगी और वरुण गांधी के मामले की पार्टी अपने स्तर पर अलग से ध्यान दे रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वरुण को कोर्ट से राहत, आयोग को भेजा जवाब