DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फैशन वीक में मर्दो का हल्ला

फैशन वीक में मर्दो का हल्ला

पहली बार आयोजित मेन्स फैशन वीक ने अपनी उपस्थिति काफी शानदार तरीके से दर्ज कराई। देश की अग्रणी फैशन संस्था एफडीसीआई और वैन ह्यूजेन ने पुरुषों के लिए इंडिया मेन्स वीक-2009 का आयोजन 11-13 सितंबर के बीच होटल ग्रैंड में किया, जिसमें देश के 30 चोटी के तथा नए फैशन डिजइनरों ने भाग लिया। हालांकि इस शो में भाग लेने वाले फैशन डिजाइनरों की संख्या देश में अब से 12 साल पहले आयोजित हुए इंडिया फैशन वीक के डिजइनरों के आगे काफी कम थी, लेकिन इस शो के माध्यम से वे महिला फैशन डिजइनर भी सामने आयीं, जो काफी समय से केवल पुरुषों के लिए कपड़े डिजइन कर रही थीं।

इस आयोजन का लक्ष्य था भारत को दुनिया का चौथा मेन्सवियर फैशन कैपिटल बनाने का, जिसके बारे में काउंसिल के अध्यक्ष सुनील सेठी का कहना है, ‘एक दशक के लंबे समय के बाद आज भारत मेन्स फैशन वीक करने में कामयाब रहा है। भारत में फैशन का बाजर बढ़ रहा है, जिसे देखते हुए कहा जा सकता है कि अब मेन्सवियर में भारत को बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता।’

फैशन वीक का आगाज हुआ देश के वरिष्ठ फैशन डिजइनर रवि बजाज के शो से। यह पहला मौका था जब रवि ने देश के किसी फैशन वीक में भाग लिया था। उनके शो में उद्योगपति नवीन अंसल अपनी ट्रायम्फ बाइक पर बैठकर रैम्प पर आये। इसके बाद बारी आई जयपुर के हिम्मत सिंह की। उनके लेबल का नाम भी स्टूडियो हिम्मत है। उन्होंने राजस्थानी आन, बान और शान से बंदगला, शेरवानी, शर्ट, कुरता, जकेट, इटैलियन पैन्ट, कोट आदि को हस्तकला और कारीगरी के नमूनों से सजया था। उनके मॉडल सिर पर जोधपुरी पगड़ी पहने हुए थे। हिम्मत सिंह के शो के लिए मॉडल एवं अभिनेता मुज्जमिल इब्राहिम ने भी रैम्प पर अपना जलवा दिखाया।
पहले ही दिन असलम खान जसे युवा डिजइनर ने भी अपना संग्रह पेश किया, लेकिन उन्हें अभी बड़े डिजइनरों से मुकाबला करने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ेगी। पहले दिन का सारा ग्लैमर ले उड़े डिजइनर रोहित बल। जी हां, रात के अंतिम शो के रूप में रोहित बल ने अपना मेन्स संग्रह पेश किया, जिसके अंतिम राउंड में उन्होंने मॉडल्स को रंग-बिरंगे बाथरोब पहनाए। फिल्म ‘कमीने’ के ‘ढैन टै ढैन..’ की धुन पर रैम्प पर आते-जाते मॉडलों ने अंत में एक-एक करके अपने बाथरोब उतार फेंके और जाता दिया कि वह रोहित बल के लिए रैम्प वॉक कर रहे हैं।

इस फैशन वीक से पुरुषों के लिए महिला फैशन डिजाइनर के रूप में राजवी मोहन का नाम उभरकर आया। एक ऐसी डिजइनर, जिसने लंदन कॉलेज ऑफ फैशन से खास पुरुषों के लिए कपड़े डिजइन करने की ट्रेनिंग ली थी। फैशन वीक में नरेन्द्र कुमार ने भी अपना संग्रह पेश किया, जो कुछ साल से केवल लक्मे फैशन वीक में ही भाग ले रहे थे।

फैशन वीक में अंतिम दिन दोपहर का समय तीन युवा डिजइनरों के नाम रहा। नितिन बल चौहान, समंत चौहान और जुबेर किरमानी, ये तीनों ऐसे डिजइनर हैं, जिन्होंने अपना करियर तकरीबन साथ ही शुरू किया। इनकी क्रियेटिविटी वाकई काबिलेतारीफ थी। भागलपुर सिल्क और हस्तकला को महत्व देने वाले समंत चौहान ने जाता दिया कि उन्हें यूं ही भविष्य का फैशन डिजाइनर नहीं कहा जाता। तो उधर, नितिन बल चौहान ने दिल्ली की सड़कों पर आम दिखने वाले लड़कों को रैम्प पर उतार डाला। फैशन वीक का समापन हुआ आशीष सोनी, रोहित गांधी एवं राहुल खन्ना के शो से, जिसे उन्होंने वान ह्यूजेन को समर्पित किया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फैशन वीक में मर्दो का हल्ला