DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

40 फीसदी युवा बने स्वाइन फ्लू के शिकार

40 फीसदी युवा बने स्वाइन फ्लू के शिकार

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने वियना में एक सम्मेलन में सोमवार को कहा कि स्वाइन फ्लू की वजह से जान गंवाने वाले और गंभीर रूप से बीमार पड़ने वाले 40 फीसदी रोगी युवा और स्वस्थ लोग हैं।

आस्ट्रिया की राजधानी में डब्ल्यूएचओ के विशेषज्ञ सीन लुन टैम ने एक सम्मेलन में कहा कि जो गंभीर मामले सामने आए अथवा जिन्होंने जान गंवायी। उनमें से 40 फीसदी लोग पहले स्वस्थ्य थे। उन्होंने कहा कि एच1 एन1 विषाणु से गंभीर रूप से बीमार पड़ने वाले 50 फीसदी से अधिक लोग 20 साल से कम उम्र के हैं। उन्होंने कहा कि 25 से 49 आयुवर्ग के लोगों में मत्यु दर सबसे अधिक है। उन्होंने बताया कि अस्पताल में दाखिल किए जाने वाले 15 से 30 फीसदी लोगों को सघन चिकित्सा कक्ष में रखा जाता है।

डब्ल्यूएचओ के मुताबिक आस्ट्रेलिया और अमेरिका में इस बीमारी की वजह से अस्पताल में दाखिल होने वालों में बच्चों की संख्या सबसे अधिक है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:40 फीसदी युवा बने स्वाइन फ्लू के शिकार