DA Image
14 जुलाई, 2020|9:09|IST

अगली स्टोरी

सीबीआई ने बूटा सिंह का बयान दर्ज किया

सीबीआई ने बूटा सिंह का बयान दर्ज किया

सीबीआई ने गुरुवार को राष्ट्रीय अनुसूचित जति आयोग के अध्यक्ष बूटा सिंह का उनके बेटे की संलिप्तता वाले रिश्वतखोरी के एक मामले में बयान दर्ज किया।

पूर्व केंद्रीय मंत्री और पूर्व राज्यपाल ने 31 अगस्त को दिल्ली उच्च न्यायालय को सूचित किया था कि वह यह स्पष्ट हो जाने के बाद ही जांच एजेंसी के सामने पेश होंगे कि मामले में उनकी गवाह के रूप में जरूरत है, न कि अभियुक्त के रूप में।

बूटा सिंह ने लोक नायक भवन में स्थित अपने आयोग कार्यालय में सीबीआई की दो सदस्यीय टीम के सामने बयान दर्ज कराया। इससे पहले उन्होंने कहा था कि सीबीआई को केंद्र की अनुमति के बिना संवधानिक पद पर बैठे ऐसे व्यक्ति से पूछताछ का कोई अधिकार नहीं है, जिसे सिविल कोर्ट की शक्तियां प्राप्त हों।

बूटा सिंह के बेटे सरबजीत सिंह को सीबीआई ने 31 जुलाई को गिरफ्तार किया था। सरबजीत पर नासिक के एक ठेकेदार से अपने पिता की अध्यक्षता वाले आयोग में उसके खिलाफ दर्ज अत्याचार के मामले को बंद करने के लिए एक करोड़ रुपये की रिश्वत मांगने का आरोप है। उच्च न्यायालय ने सीबीआई से बूटा सिंह द्वारा दायर याचिका पर 26 अगस्त को जवाब मांगा था। याचिका में उन्होंने जांच एजेंसी पर अवैध रूप से सम्मन भेजने का आरोप लगाया था।

बूटा सिंह ने दिल्ली उच्च न्यायालय में 25 अगस्त को दायर अपनी याचिका में यह भी तर्क दिया था कि उनके पास कैबिनेट स्तर का दर्जा है, इसलिए सीबीआई केंद्र की अनुमति के बिना उनसे सवाल या पूछताछ नहीं कर सकती।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:सीबीआई ने बूटा सिंह का बयान दर्ज किया