DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सर्वांगीण विकास के लिए शिक्षा जरूरी

बिहार के दरभंगा स्थित ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के कुलपति डा. मिश्रीलाल ठाकुर ने आज कहा कि मनुष्य के सर्वांगीण विकास में शिक्षा को सर्वाधिक महत्वपूर्ण अवयव बताते हुए कहा कि सभी के लिए शिक्षा की व्यवस्था होनी चाहिए। विश्वविद्यालय के दूरस्थ शिक्षा निदेशालय के तत्वाधान में शिक्षक कर्मियों के लिए इवैल्यूएशन एंड असेसमेंट डिस्टेंश एडुकेशन विषय पर आयोजित आेरिएन्टेशन कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए डा. ठाकुर ने कहा कि वर्तमान समय में सभी के लिए शिक्षा आवश्यक है क्योंकि शिक्षित समाज के ही विकसित राष्ट्र का निर्माण हो सकता है। उन्होंने दूरस्थ शिक्षा के महत्व को रेखांकित करते हुए कहा कि पारम्परिक शिक्षा पद्धति आज भी काफी महत्वपूर्ण है लेकिन यह सभी को शिक्षित नहीं कर सकती ऐसे में दूरस्थ शिक्षा छात्रों के लिए काफी उपयोगी साबित हो रही है। कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए पटना विश्वविद्यालय के शिक्षा विभाग के सेवानिवृत प्रोफेसर डा. रामजी प्रसाद सिंह ने कहा कि शिक्षक एवं छात्रों के शैक्षिक स्तर के उन्नयन के लिए छात्रों को शिक्षकों का मूल्यांकन का अधिकार दिया जाना जरूरी है। शिक्षा प्राप्त करने के बाद छात्रों के मूल्यांकन की परम्परा प्राचीनकाल से ही है ऐसे में शिक्षकों के मूल्यांकन से शिक्षक एवं छात्र दोनों को इसका लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि परीक्षा को समय सीमा में बांधने के बजाय छात्रों की सुविधा अनुसार परीक्षा लेकर उनके मानसिक तनाव को काफी हद तक दूर किया जा सकता है। कार्यक्रम को इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय के क्षेत्रीय निदेशक डा. ए.एन.त्रिपाठी मूल्यांकन विभाग के कुलसचिव डा. एस.के. महापात्रा विश्वविद्यालय के दूरस्थ शिक्षा निदेशक डा.एस.सी मिश्रा समेत अन्य लोगों को संबोधित किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सर्वांगीण विकास के लिए शिक्षा जरूरी