अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेलों में सघन तलाशी का आयोग का निर्देश

‘फ्री एण्ड फेयर पोल’ के चुनाव आयोग के स्लोगन के साथ बिहार की जेलों की व्यवस्था को भी फेयर करने की कवायद शुरू की गयी है। चुनाव के दौरान जेलों में अब वह सब नहीं चलेगा जो प्रतिबंधित है। जेलों में छापेमारी के दौरान दर्जनों मोबाइल फोन और दूसरी आपत्तिजनक सामग्री की जब्ती आम बात हो गयी है। सरकार ने स्पष्ट निर्देश जारी किया है कि जेलों में भारी मात्रा में प्रतिबंधित सामग्रियों के प्रवेश पर रोक लगायी जाए। साथ ही जेलों में पहले से उपलब्ध प्रतिबंधित सामग्रियों को जब्त करने के लिए सघन तलाशी अभियान भी चलाने का निर्देश दिया गया है। ताजा निर्देश राज्य के जेल आईजी एस.शिवकुमार का है। खासकर पटना, गया, बक्सर, मुजफ्फरपुर और भागलपुर जहां सेंट्रल जेल हैं, के जिला पदाधिकारियों को भेजे निर्देश में तत्काल इसपर कार्रवाई करने को कहा गया है।ड्ढr ड्ढr जेल आईजी ने जिलाधिकारियों को कहा है कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर राज्य की सभी जेलों की एक अभियान के तहत सघन तलाशी ली जाए। जेल मुख्यालय ने कहा है कि खासकर वैसे जिले जहां सेंट्रल जेल हैं की तलाशी के लिए जिला अपर दंडाधिकारी स्तर के पदाधिकारियों को अधिकृत किए जाने का प्रस्ताव है। आईजी ने संबंधित सभी पांच जिलों के डीएम से इसके लिए दो-दो अपर जिला दंडाधिकारी स्तर के पदाधिकारियों का नाम अनुशंसित करने का निर्देश दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जेलों में सघन तलाशी का आयोग का निर्देश