class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खेल गांव में मच्छर प्रजनन पाए जाने पर दस चालान

निर्माणाधीन खेल गांव परिसर में एक बार फिर डेंगू के लार्वा फैलने का खतरा मंडरा गया है। एमसीडी ने विभिन्न ठेकेदारों के यहां मच्छर प्रजनन पाए जाने पर दस चालान किए हैं। समझा जाता है कि खेल गांव में मच्छरों के प्रजनन को रोकने के लिए कर्मचारियों की संख्या भी पर्याप्त नहीं थी और न तो निगम और न ही ठेकेदार ने इसे गंभीरता से लिया।

सोमवार को मेयर डा.कंवर सेन ने आला अफसरों के साथ अक्षरधाम मंदिर के पास स्थित खेल गांव का निरीक्षण किया। मेयर को सूचना मिली थी कि यहां काफी बड़े पैमाने पर निर्माण कार्य चल रहा है और खासी संख्या में मजदूर काम कर रहे हैं। रूक-रूक कर बारिश के कारण इस क्षेत्र में मलेरिया व डेंगू फैलने की संभावना है। मौके पर खेल गांव के अफसरों ने बताया कि निगम का स्वास्थ्य विभाग यहां मच्छरों के प्रजनन को रोकने के लिए काम कर रहा है।

परियोजना के अफसरों व कर्मचारियों को मच्छरों का प्रजजन रोकने के बारे में पूरी जानकारी है और इस लिए संभव उपाय भी कर रहे हैं, लेकिन इस काम के लिए जितने कर्मचारी चाहिए उतने नियुक्त नहीं किए गए हैं। इस पर खेल गांव के उपाध्यक्ष मेजर जनरल ए.के.सिंह को हिदायत दी गई है कि मच्छर का प्रजनन रोकने के लिए कर्मचारियों की संख्या में समुचित बढ़ोतरी की जाए, ताकि इस काम को प्रभावशाली ढंग से अंजाम दिया जा सके।

मेजर जनरल ने मेयर को आश्वासन दिया है कि वे मच्छरों को रोकने के लिए कदम उठाएंगे। मालूम हो कि खेल गांव में इससे पहले भी मच्छरों के लार्वा पाए गए हैं और हिदायत के बावजूद यहां लार्वा रोकने में नाकामी ही हाथ लगी है। पिछले साल भी यहां कई मजदूर डेंगू के चलते पीड़ित हो गए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खेल गांव में मच्छर प्रजनन पाए जाने पर दस चालान