DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खिताबों का सिक्सर लगाने उतरेंगे फेडरर

खिताबों का सिक्सर लगाने उतरेंगे फेडरर

दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी और गत पांच बार के चैंपियन स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर सोमवार से शुरू हो रहे वर्ष के अंतिम ग्रैंड स्लैम यूएस ओपन टेनिस टूर्नामेंट में खिताबों का छक्का लगाने के लक्ष्य के साथ फ्लशिंग मीडोज में उतरेंगे।

अगर फेडरर खिताब जीतने में सफल रहते हैं तो वह लगातार छह बार यूएस ओपन जीतने के अमेरिका के बिल टिल्डन के रिकार्ड की बराबरी कर लेंगे। टिल्डन ने 1920 के दशक में यह रिकार्ड बनाया था लेकिन तब यह टूर्नामेंट पेशेवर नहीं था। शीर्ष वरीय फेडरर को टूर्नामेंट में आसान ड्रा मिला है। वह सोमवार को आर्थर ऐश स्टेडियम में अमेरिका के वाइल्डकार्ड प्रवेशी डेविन ब्रिटन के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेंगे। अगर कोई उलटफेर नहीं हुआ तो सेमीफाइनल में उनका मुकाबला चौथी वरीयता प्राप्त सर्बिया के नोवाक जोकोविच से होगा।

फेडरर के लिए यह सत्र काफी अच्छा रहा है। उन्होंने फ्रेंच ओपन और विंबलडन में खिताब जीतकर सर्वाधिक 15 ग्रैंड स्लैम जीतने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी बनने का गौरव हासिल किया और अपनी नंबर एक की कुर्सी भी पा ली। इस दौरान वह जुड़वां बच्चियों के पिता भी बन गए। अब उनका इरादा फ्लशिंग मीडोज पर एक बार फिर पताका फहराकर वर्ष का तीसरा ग्रैंड स्लैम अपनी झोली में डालने का है।

स्विस खिलाड़ी पिछले वर्ष स्पेन के राफेल नडाल के हाथों विंबलडन और नंबर एक का ताज गंवाने के बाद जब यहां खेलने उतरे थे तो उनका मनोबल पूरी तरह गिरा हुआ था, लेकिन यहां मिले जबर्दस्त समर्थन के बूते उन्होंने लगातार पांचवीं बार यूएस ओपन का खिताब जीतकर अपना खोया आत्मविश्वास फिर से हासिल कर लिया। फेडरर को इस बार भी अपने समर्थकों से इसी उत्साहवर्धन की उम्मीद रहेगी।

दूसरी वरीयता प्राप्त और गत उपविजेता ब्रिटेन के एंडी मरे पिछले वर्ष फाइनल में फेडरर के हाथों मिली शिकस्त का बदला चुकाने को बेकरार हैं। इस वर्ष पांच टूर्नामेंट जीतकर उनका आत्मविश्वास सातवें आसमान पर है। इनमें से चार खिताब तो उन्होंने हार्डकोर्ट पर ही जीते हैं।

इसी महीने मांट्रियल में खिताब जीतकर मरे विश्व रैंकिंग में दूसरे नंबर पर पहुंच चुके हैं। करियर के पहले ग्रैंड स्लैम की तलाश में उतरे ब्रिटिश खिलाड़ी लात्विया के एर्नेस्ट गुल्बिस के खिलाफ अपने अभियान शुरू करेंगे। अगर सब कुछ ठीक ठाक चलता रहा तो सेमीफाइनल में उनकी भिड़ंत तीसरी वरीयता प्राप्त और आस्ट्रेलियन ओपन विजेता नडाल से होगी।

घुटनों की चोट के कारण लगभग दो महीने कोर्ट से बाहर रहे नडाल पहले राउंड में फ्रांस के रिचर्ड गेस्केट से भिडेंगे। अपनी फार्म के लिए जूझ रहा यह स्पेनी खिलाड़ी यूएस ओपन जीतकर अपना करियर ग्रैंड स्लैम पूरा करना चाहता है। पिछले वर्ष उन्हें सेमीफाइनल में मरे के हाथों शिकस्त झेलनी पड़ी थी।

दुनिया के चौथे नंबर के खिलाड़ी जोकोविच को भी खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा है। उन्होंने हाल ही में सिनसिनाटी ओपन में नडाल को सेमीफाइनल में लगातार सेटों में मात दी थी। जबर्दस्त फार्म में चल रहे जोकोविच को पहले दौर में क्रोएशिया के इवान लुबिसिच की चुनौती से पार पाना होगा जबकि पूर्व चैंपियन अमेरिका के एंडी रोडिक का मुकाबला जर्मनी के ब्योर्न फाउ से होगा।

रोडिक को विंबलडन के फाइनल में फेडरर के हाथों संघर्षपूर्ण मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा था लेकिन उसके बाद उन्होंने अपनी फिटनेस पाने के लिए अपने कोच लेरी स्टेफांकी के साथ मिलकर काफी पसीना बहाया है जिसका फायदा उनको इस टूर्नामेंट में मिल सकता है। फ्रेंच ओपन में फाइनल में फेडरर को कड़ी चुनौती देने वाले 20 वर्षीय अर्जेंटीना के जुआन मार्टिन डेल पोत्रो की दावेदारी को भी खारिज नहीं किया जा सकता है।

महिला वर्ग में दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी रूस की दिनारा सफीना शुरुआती राउंड में आस्ट्रेलिया की वाइल्डकार्ड प्रवेशी ओलिविया रोगोवस्का से भिड़ेंगी। सफीना अब तक एक भी ग्रैंड स्लैम खिताब नहीं जीत पाई हैं। इस बार भी उनके लिए खिताब की राह आसान नहीं है। उन्होंनें इस वर्ष तीन खिताब जीते हैं और वह आस्ट्रेलियन ओपन और विंबलडन में उपविजेता रहीं।

गत चैंपियन और दुनिया की दूसरे नंबर की खिलाड़ी सेरेना के पास वर्ष का तीसरा ग्रैंड स्लैम खिताब अपने नाम करने का बेहतरीन मौका है। वह इस बात से बेहद खफा हैं कि आस्ट्रेलियन ओपन और विंबलडन में खिताब जीतने के बावजूद उन्हें विश्व रैंकिंग में दूसरा स्थान मिला है, लेकिन अगर सेरेना खिताब जीत भी जाती हैं और सफीना को पहले दौर में ही बाहर का रास्ता देखना पड़ता है तब भी अमेरिकी खिलाड़ी विश्व रैंकिंग में वह शीर्ष पर नहीं पहुंचेंगी।

ग्यारह ग्रैंड स्लैम विजेता सेरेना हमवतन और वाइल्डकार्ड खिलाड़ी एलेक्सा ग्लेच के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेंगी। अगर कोई उलटफेर नहीं हुआ तो सेमीफाइनल में सेरेना का मुकाबला अपनी बड़ी बहन वीनस से हो सकता है। वीनस को पहले राउंड में रूस की वेरा दुशेवीना की चुनौती से निपटना होगा।

पूर्व चैंपियन और 29वीं वरीयता प्राप्त रूस की मारिया शारापोवा बुल्गारिया की त्वेताना पिरोनकोवा के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेंगी। तीसरे राउंड में उनका मुकाबला हमवतन एलेना देमेंतिएवा से हो सकता है। वहीं, दो वर्ष बाद हाल ही में टेनिस कोर्ट पर वापसी करने वाली विश्व की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी बेल्जियम की किम क्लिस्टर्स को शुरुआती राउंड में यूक्रेन की विक्टोरिया कुतुजोवा से भिड़ना है। चौथे राउंड में उनका मुकाबला वीनस से हो सकता है। इनके अलावा डेनमार्क की कैरोलीन वोज्नियाकी, बेलारूस की विक्टोरिया अजारेंका, जर्मनी की सबीन लिसिकी और पोलैंड की एग्निजस्का रदवांस्का भी उलटफेर करने में सक्षम हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खिताबों का सिक्सर लगाने उतरेंगे फेडरर