DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उदित सर की साइना दीदी हूं

उदित सर की साइना दीदी हूं

मैं हूं तान्या। क्लास 3 की स्टूडेंट हूं। प्लेग्रुप से आजतक मैं इसी ‘के एस पब्लिक स्कूल’ में पढ़ रही हूं। वह तो अगर मेरे गेम्स वाले उदित सर न होते, तो मैं एक दिन भी स्कूल न आती।
 
हर साल उसी स्कूल में मेरा एडमीशन करा दिया जाता है। इस स्कूल की बिल्डिंग मुझे अच्छी नहीं लगती है। लेकिन यहां का प्लेग्राउंड बहुत अच्छा है। यहां पर उदित सर मुझे बैडमिंटन की प्रैक्टिस कराते हैं। हमेशा मुझे कहते हैं कि मैं बहुत अच्छा खेलती हूं। सर यह भी कहते हैं कि अगर मैं मेहनत करूं तो एक दिन साइना नेहवाल दीदी की तरह बन सकती हूं। कितना अच्छा होगा! मम्मी-पापा भी बहुत खुश होंगे। अब मैं और अच्छा खेलने की कोशिश करती हूं। घर पर भी भइया के साथ प्रैक्टिस करती हूं। मुझे बैडमिंटन खेलना बहुत पसंद आने लगा है। वह भी उदित सर की वजह से। इसीलिए अब उदित सर मेरे फेवरेट टीचर बन गए हैं।

मैं सर के साथ सेवेंथ पीरियड में बैडमिंटन की प्रैक्टिस करती हूं। कभी-कभी जब मम्मी अच्छा टिफिन लगा कर नहीं देती हैं, तब मैं लंच टाइम में भी बैडमिंटन खेलती हूं। मेरी फ्रेंड निकिता जब अच्छा नहीं खेल पाती है तो मैं अपने साथ खेलने के लिए उदित सर को बुला लाती हूं। सर मुझे कभी मना नहीं करते कि अभी गेम्स पीरियड नहीं है, इसलिए नहीं आ सकता। टीचर्स-डे को मैं सर को बड़ी वाली चॉकलेट दूंगी।

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उदित सर की साइना दीदी हूं