DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संप्रग 100 दिन के कार्यकाल में हर मोर्चे पर विफल

बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने केन्द्र में सत्तारूढ कांग्रेसनीत संप्रग सरकार की दूसरी पाली के पहले 100 दिन के कार्यकाल को बेहद निराशाजनक करार देते हुए  शनिवार को कहा कि संप्रग सरकार जनता से किये वायदे निभाने में हर मोर्चे पर बुरी तरह विफल सिद्व हुई है।
      
संप्रग सरकार के 100 दिन के कार्यकाल पर टिप्पणी करते हुए जारी एक बयान में बसपा मुखिया मायावती ने कहा है कि बेतहाशा बढ़ती मंहगाई से लेकर कूटनीतिक मंचो तक संप्रग सरकार हर मोर्चे पर विफल सिद्व हुई है और इसने देश के गरीब और कमजोर वर्ग के लोगो को राहत पहुचाने की दिशा में कोई भी ठोस काम नही किया है।
      
मायावती ने कहा है कि केन्द्र सरकार की गलत आर्थिक नीतियो के कारण मंहगाई बेतहाशा बढ़ी है और संप्रग सरकार की दूसरी पाली के पहले 100 दिनो के भीतर चीनी के दाम में 25 प्रतिशत, आलू के दाम में 17 प्रतिशत, गेहूं के दाम में 8 प्रतिशत और दालों के दामो में 30 प्रतिशत की बढोत्तरी हुई है जबकि केन्द्र सरकार की तरफ से मंहगाई पर नियंत्रण पाने की दिशा में कोई ठोस पहल होती नही दिखाई पड़ी।
      
मायावती ने उलटे संप्रग सरकार पर मुनाफाखोरो और सटोरियो को खुली छूट देकर बड़े पूंजीपतियो और धन्नासेठो को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाते हुए कहा कि चुनाव बाद पेट्रोल और डीजल के दामो में की गयी बढ़ोत्तरी ने भी मंहगाई बढाने में अहम भूमिका निभाई है।
     
मुख्यमंत्री ने केन्द्र सरकार पर सूखे से निपटने की दिशा में कोई प्रभावी कदम नही उठाने का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने प्रदेश में सूखे से प्रभावित किसानों को राहत देने के लिए केन्द्र सरकार से 7789 करोड़ रूपये के आर्थिक पैकेज की मांग की थी। मगर संप्रग सरकार ने इस तरफ कोई ध्यान नही दिया जिससे किसानो के प्रति उसकी कथित हमदर्दी की पोल खुल गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:संप्रग 100 दिन के कार्यकाल में हर मोर्चे पर विफल