class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दहेज प्रताडि़त विवाहिता की हुई मौत

दहेज प्रताड़ना से एक और विवाहिता बलि चढ़ गई। भोंडसी क्षेत्र में उसकी मौत हो गई। ससुराल पक्ष की ओर से इसे आत्महत्या करार दिया जा रहा है, जबकि मायके वालों ने इसे दहेज हत्या का नाम दिया है। पुलिस ने मृतक के पिता के बयान पर पति, सास, ससुर व देवर के खिलाफ मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

शुक्रवार रात हर दिन की तरह सभी लोग खाना खाने के बाद सोने चले गए। सुबह होने पर दिखा तो कमरे के बाहर 22 वर्षीय सुचेता उर्फ शिखा का शव पड़ा था और ससुराल पक्ष के लोग आसपास थे। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस के मुताबिक घटनास्थल पर मिले साक्ष्यों से भी ऐसा लगता है कि उसकी मौत पहले हुई है, जबकि पति मनोज ने साड़ी से फंदा लगाकर आत्महत्या किए जाने की बात कही है।

विवाहिता के पिता के बयान पर पुलिस ने भोंडसी थाने में ससुराल पक्ष के चार लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का मामला दर्ज कर, तफ्तीश शुरू कर दी है। मृतका के शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौँप दिया गया है। 7 दिसंबर, 2007 को उत्तम नगर निवासी शिखा पुत्री मान सिंह की शादी भोंडसी निवासी मनोज पुत्र रणबीर के साथ हुई थी। दोनों की पांच महीने की एक बेटी भी थी, लेकिन ससुराल वालों की तरफ से हमेशा दहेज की मांग की जा रही थी।

आखिरकार, शुक्रवार को विवाहिता की इसी सिलसिले में मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में पति मनोज, ससुर रणबीर, सास राजेश देवी व देवर महेश के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है, लेकिन देर शाम तक उनकी गिरफ्तारी नहीं हुई थी।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दहेज प्रताडि़त विवाहिता की हुई मौत