DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्व इंस्पेक्टर पर अवैध हिरासत व रिश्वत का मामला दर्ज

सेक्स स्कैंडल में फंस चुके दरोगा अफल सिंह पर एक व्यक्ति को अवैध हिरासत में रखने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है। अफल सिंह पर आरोप है कि उसने विजयनगर थानाध्यक्ष रहते समय एक व्यक्ति को हिरासत में रखा। उसके जमा तलाशी के रुपए वापस नहीं किए व रिश्वत खाने के बाद उसे छोड़ा। एसएसपी के आदेश पर अफल सिंह पर मामला दर्ज किया गया है।

लोनी रूपनगर इंडस्ट्रीयल एरिया के जितेंद्र यादव ने एसएसपी अखिल कुमार को शिकातय की थी कि 12 अप्रैल 2009 की शाम  उसका भाई राहुल फरीदाबाद से गाड़ी में लादकर कुछ सामान ला रहा था। इस बीच उसकी गाड़ी की किसी से हल्की सी टक्कर हो गई। इस बात पर सेल टैक्स बैरियर के पास खड़े पुलिसकर्मी गाड़ी समेत उसे पकड़ कर थाने ले आए। तत्कालीन थानाध्यक्ष अफल सिंह के आने पर राहुल ने उन्हें सारी बात बताई, लेकिन उसने बात सुनने की बजाए उसे लॉकअप में बंद कर दिया।

उसकी जेब में 4500 रुपए व एक मोबाइल था। जमा तलाशी में पुलिस ने जेब के सारे रुपए ले लिए। इस बात का पता लगाने पर वह अपने भाई को छुड़ाने पहुंचे तो उसने रिश्वत लेकर राहुल को छोड़ने की बात कही। रुपया न देने पर उसे झूठे केस में फंसाने की धमकी दी। शनिवार को एसओ विजयनगर ने रिश्वत लेकर उनके भाई को छोड़ा। जितेंद्र की शिकायत पर एसएसपी ने विभागीय जांच के निर्देश दिए थे। जांच में आरोप सिद्ध होने पर सबइंस्पेक्टर अफल सिंह पर शनिवार को मामला दर्ज कर लिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पूर्व इंस्पेक्टर पर अवैध हिरासत व रिश्वत का मामला दर्ज