DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेडिकल कालेज में दाखिले के लिए एक वर्ष और इंतजार

ईएसआई कॉरपोरेशन के प्रस्तावित फरीदाबाद मेडिकल कालेज अस्पताल में दाखिले के लिए अभी एक वर्ष और इंतजार करना पड़ेगा। मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) इस बारे में नाम्र्स पूरे नहीं कर सका हैं। इस कारण सत्र 2010 के लिए अंतिम तिथि 28 अगस्त तक इसका पंजीकरण नहीं हो सका।

कॉरपोरेशन की ओर से इस बारे में कोई पहल नहीं की गई। अब इसकी जिम्मेदारी ईएसआई कॉरपोरेशन के स्टेट मेडिकल कमिश्नर डॉ. सरिता डोगरा को सौंपी गई है। उन्हें मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया, राज्य, केंद्र और कॉरपोरेशन के बीच तालमेल बनाए रखने की जिम्मा दिया गया है। 25 एकड़ में करीब सौ करोड़ की लागत से बनने वाले मेडिकल कालेज का 27 फरवरी 09 को तत्कालीन केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री ऑस्कर फर्नांडिस ने शिलान्यास किया था।

इस दौरान इसे वर्ष 2010 से सत्र शुरु करने का दावा किया गया था। लेकिन इसका खाका तैयार नहीं किया गया। कालेज शुरु करने से पहले मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के नाम्र्स को पूरा कर 28 अगस्त तक अगले सत्र के लिए पंजीकरण कराना जरुरी था। एनएच तीन स्थित ईएसआई अस्पताल में मेडिकल कालेज शुरु करने के लिए अब सेक्टर 16 स्थित ईएसआई कॉरपोरेशन के कार्यालय में स्टेट मेडिकल कमिश्नर डॉ. सरिता डोगरा को तैनात किया गया है।

ये मेडिकल कालेज शुरु करने के दौरान आने वाली दिक्कतों का सामाधान करेंगी। इसको मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया, केंद्र व राज्य सरकार से तालमेल भी बिठाना होगा। ताकि निमार्ण में कोई बाधा न आए। स्टेट मेडिकल कमिश्नर डॉ. सरिता डोगरा का कहना है, मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के नार्मस पूरा नहीं होने के कारण इस वर्ष रजिस्ट्रेशन नहीं हो सका। उनका दावा है कि जल्द नार्मस को पूरा कर लिया जाएगा। उम्मीद है कि वर्ष 2010-11 में सत्र शुरु कर दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेडिकल कालेज में दाखिले के लिए एक वर्ष और इंतजार