DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्राइवेट अस्पतालों में स्वाइन फ्लू संदिग्धों की जांच नहीं

स्वाइन फ्लू की जांच और इलाज की व्यवस्था भले ही प्राइवेट अस्पताल में कर दी गई हो, लेकिन मरीज अभी भी सरकारी अस्पताल में ही आ रहे हैं। जनपद के एक भी प्राइवेट अस्पतालों से स्वाइन फ्लू के संदिग्ध मरीजों की जांच और इलाज की पुष्टि नहीं हुई है। जबकि आदेश को आए लगभग दस दिन हो चुके हैं। उधर एमएमजी अस्पताल में संदिग्ध मरीजों की संख्या रोजाना सौ से ज्यादा हो रही है, जो जांच की मांग कर रहे हैं।

सीएमओ डा.ए.के.धवन ने बताया कि प्राइवेट अस्पतालों को स्वाइन फ्लू की जांच या इलाज निर्देश दे दिया गया है। जनपद के चार प्राइवेट अस्पतालों को स्वाइन फ्लू के इलाज की अनुमति दे दी गई है। लेकिन इन अस्पतालों से अब तक एक भी मरीज के जांच या इलाज की पुष्टि नहीं हुई है। फिलहाल स्वाइन फ्लू के संदिग्ध मरीजों की जांच सीएमओ आफिस में की जा रही है। आसपास के जिले के मरीजों का सैंपल भी यहीं लाया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि एमएमजी अस्पताल में रोजाना सौ मरीज स्वाइन फ्लू की जांच के लिए पहुंच रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की दिक्कत यह है कि जुकाम और खांसी के मरीज भी स्वाइन फ्लू की जांच कराने की मांग करते हैं। ओपीडी में भी वायरल के मरीजों की संख्या में जबरदस्त बढ़ोतरी हो गई है। डिप्टी सीएमएस डा.वीरेंद्र नाथ ने बताया कि मरीजों की काउंसलिंग की जा रही है और बेवजह डरने से बचने की सलाह दी जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्राइवेट अस्पतालों में स्वाइन फ्लू संदिग्धों की जांच नहीं