DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूएन दूत ने कहा तालिबान से बात करें ओबामा

अफगानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख दूत काई इदे ने कहा है कि अमेरिकी राष्ट्र्रपति बराक आेबामा को तालिबान से बातचीत शुरू करनी चाहिए। इदे ने फ्रांस के समाचार पत्र ‘ली मोंड’ को दिए एक साक्षात्कार में कहा कि मैं इस बात का पक्षधर हूं कि बातचीत एक महत्वपूर्ण तत्व है। लेकिन बातचीत ऐसे लोगों से होनी चाहिए जो समस्या से सीधे तौर से जुड़े हुए हैं। आतंकवाद के खिलाफ अलग-थलग करने की नीति काम नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि बातचीत शुरू करने की शर्तो में सुन्नी मुस्लिम हिंसा पर रोक के साथ तालिबान द्वारा इस बात का भरोसा शामिल होना चाहिए कि वह अलकायदा के साथ कोई संबंध नहीं रखेगा। इसके साथ ही तालिबान को सशस्त्र हिंसा रोकने, संविधान का सम्मान करने और महिलाआें को शिक्षा का अधिकार के प्रति प्रतिबद्ध होना होगा। इदे ने कहा कि तालिबान को बातचीत के लिए तैयार करने में अफगानिस्तान को अहम भूमिका निभानी होगी, लेकिन वह भी इसमें अपना योगदान देने को तैयार हैं। यह पूछे जाने पर कि क्या वह तालिबान के साथ संपर्क में हैं, उन्होंने कहा कि तालिबान ने हमारी कुछ मानवीय अनुरोधों का सकारात्मक जवाब दिया है तथा उसकी आतंकवादी कार्रवाई पर रोक लगाना असंभव नहीं है। उल्लेखनीय है कि आेबामा ने इस महीने के शुरू में दिए एक बयान में कहा था कि उनके समक्ष तालिबान के नरमपंथी तत्वों से बातचीत का विकल्प खुला हुआ है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: यूएन दूत ने कहा तालिबान से बात करें ओबामा