DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरियाणा में न्यूनतम मजदूरी बढ़ी

हरियाणा सरकार ने राज्य में श्रमिकों की सभी श्रेणियों में न्यूनतम वेतन एक जुलाई 2009 से बढ़ाने का निर्णय लिया है। न्यूनतम वेतन में बढ़ोत्‍तरी के बाद अकुशल श्रेणी के श्रमिकों का न्यूनतम मासिक वेतन 3914 रूपए होगा जो पहले 3510 रूपए था।

अकुशल श्रमिकों का न्यूनतम दैनिक वेतन अब 151 रूपए होगा। मुख्यमंत्री भेपेन्द्र सिंह हुड्डा ने आज कहा कि हरियाणा में नई न्यूनतम दरें अब एक-दो राज्यों को छोड़कर देश में सर्वाधिक हैं। उन्होंने बताया कि बढोतरी के बाद अब अर्ध कुशलए श्रेणी में न्यूनतम मासिक वेतन 4044 और न्यूनतम दैनिक वेतन 156 रूपए .अर्ध कुशलबी श्रेणी में न्यूतनम मासिक वेतन 4174 रूपए और न्यूनतम दैनिक वेतन 161 रूपए कुशल ये श्रेणी में न्यूनतम मासिक वेतन 4304 रूपए और न्यूनतम दैनिक वेतन 166 रूपए  कुशलबी श्रेणी में न्यूनतम मासिक वेतन 4434 रूपए और न्यूतनम दैनिक वेतन 171 रूपए और उच्च कुशल श्रेणी में न्यूनतम मासिक वेतन 4564 रूपए और न्यूतनम दैनिक वेतन 176 रूपए होगा।


उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त सरकार ने ईंट भट्ठा उद्योग में कार्यरत श्रमिकों की मजदूरी दरों में बढोत्‍तरी करने का भी निर्णय लिया है। बढोत्‍तरी के बाद ईंट पत्‍थर के लिए न्यूनतम मजदूरी दर 223 रूपए प्रति दिन होगी जबकि टाईल पत्‍थर के लिए यह 251 रूपए निर्धारित की गई है। इसी प्रकार ईंट एवं टाठल भराई की न्यूनतम श्रमिक दर वर्ग ये 100 रूपए और वर्गबी में 83 रूपए होगी।


 सरकार ने केरीज दरों में भी बढौत्तरी करते हुए इसे 18 रूपए प्रति हजार और निकासी दरें 74 रूपए प्रति हजार किया गया है। चिनाई एवं मिस्तरी की न्यूनतम श्रमिक दर 4304 रूपए होगी। हुड्डा ने बताया कि श्रमिकों के न्यूनतम वेतन में बढोतरी मूल्य सूचकांक आंकड़ों के आधार पर की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हरियाणा में न्यूनतम मजदूरी बढ़ी